राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने कहा है कि त्रिपुरा की अनुसूचित जनजातियों के जीवन स्तर में सुधार के बगैर देश का विकास संभव नहीं है। कोविंद ने गोमती जिला के उदयपुर में राजश्री हॉल में उदयपुर से सबरूम खंड के बीच विस्तारित किए गए राष्ट्रीय राजमार्ग आठ को गुरूवार को जनता को समर्पित करने के बाद आयोजित समारोह में यह बात कही।


उन्होंने कहा कि केंद्र ने वनबंधु कल्याण के नाम से एक नयी योजना शुरू की है। केन्द्र सरकार के जनजातीय कार्य मंत्रालय ने जनजातियों के कल्याण के लिए वनबंधु कल्याण योजना(वीकेवाई)का शुभारंभ किया है।


वीकेवाई का मुख्य लक्ष्य जनजातियों का समग्र विकास है। इस प्रक्रिया से यह सुनिश्चित किया जा रहा है कि केंद्र एवं राज्य सरकारों द्वारा जनजातियों के लिए कल्याण के लिए जारी विभिन्न कार्यक्रमों का लाभ उचित संस्थागत तंत्र के माध्यम से लक्षित समूह तक पहुुंच सके।


वीकेवाई का मुख्य उद्देश्य जनजातीय इलाके में लोगों के जीवन स्तर में सुधार, शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार, जनजातियों के परिवारों के लिए गुणवत्तापूर्ण एवं दीर्घकालिक रोजगार के अवसर, जनजातियों की संस्कृति एवं विरासत के संरक्षण को ध्यान में रखकर आधारभूत सुविधाओं की उपलब्धता में कमी को कम करना है।