उत्तर प्रदेश के राशन कार्ड लाभार्थियों (Ration Card Holders) के लिए खुशखबरी है. अब इन लाभार्थियों को अनाज के साथ दाल, तेल और नमक भी फ्री में मिलेगा. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चुनाव से पहले लोगों को राशन के साथ तेल, दाल और नामक वितरण का ऐलान किया. शहजहांपुर से इसकी शुरुआत भी हो गई है. आगामी विधान सभा चुनावों के मद्देनजर सरकार कई और भी बड़े ऐलान कर सकती है. 

आपको बता दें कि राज्य सरकार अंत्योदय और पात्र गृहस्थी कार्डधारकों को दिसंबर से मार्च 2022 तक फ्री खाद्यान्न के साथ आयोडाइज्ड नमक, दाल/साबुत चना, और खाद्य तेल भी मुफ्त में मुहैया कराएगी. कैबिनेट की ओर से यह फैसला किए जाने के बाद खाद्य एवं रसद विभाग ने इस बारे में आदेश भी जारी कर दिया है. इस जारी आदेश के अनुसार, अंत्योदय और पात्र गृहस्थी कार्डधारकों को प्रति कार्ड एक किलोग्राम नमक, एक किलोग्राम दाल/साबुत चना और एक लीटर सरसों तेल/रिफाइंड तेल दिया जाएगा.

अंत्योदय और पात्र गृहस्थी कार्डधारकों को प्रति कार्ड एक किलोग्राम नमक, एक किलोग्राम दाल/साबुत चना और एक लीटर सरसों तेल/रिफाइंड तेल दिया जाएगा. यह सामग्री एक किलोग्राम/एक लीटर के पैकेट में उपलब्ध करायी जाएगी. निःशुल्क वितरण के लिए उचित दर विक्रेता के यहां जिलाधिकारी नोडल अधिकारी तैनात करेंगे. 

योगी सरकार मौजूदा केंद्रीय खाद्य वितरण कार्यक्रम ‘पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना’ को आगे बढ़ा कर साल मार्च तक गरीबों के बीच मुफ्त राशन पहुंचाएगी. गौरतलब है कि इस योजना को कोविड काल के दौरान शुरू किया गया था. पूर्व में पीएम मोदी द्वारा की गई घोषणा के अनुसार, यह योजना नवंबर तक चलाई जानी है. लेकिन अब उत्तर प्रदेश में ये योजना अगले साल तक के लिए बढ़ा दी है.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विधायकों के साथ और अलग-अलग संगठनों के साथ बैठकों के दौरान फ्री राशन बांटे जाने की इस योजना की तारीफ की है. केंद्र सरकार की योजना के इस योजना के तहत 3 किलो गेहूं और 2 किलो चावल दिया जाता है. लेकिन, राज्य सरकार इसमें 1 किलो दाल, 1 लीटर तेल और नमक का एक पैकेट भी देगी.