राष्ट्रीय राजधानी के छतरपुर में इस माह आयोजित होने वाले विश्व शिव महाकुंभ के दौरान चांदी के सवा करोड़ बेलपत्र से भगवान शिव की विशाल प्रतिमा बनाई जाएगी।


विश्व शिव महाकुंभ का आयोजन करने वाली संस्था देवाश्रम ट्रस्ट के संस्थापक अध्यक्ष डॉ़ ब्रज नंदन जी महाराज ने आज यहां यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि 21 से 31 अक्तूबर तक दक्षिणी दिल्ली के छतरपुर में आयोजित होने वाले दस दिन के विश्व शिव महाकुंभ के दौरान सवा करोड़ पार्थिव शिवलिंगों का भी निर्माण किया जाएगा।


पहली बार आयोजित होने वाले पर्यावरण अनुकूल पूजा के लिए सवा करोड़ चांदी से बने बेलपत्र चढ़ाए जाएंगे। महाराज ने बताया कि विश्व शांति एवं एकता को बढ़ावा देने के लिए आयोजित किये जा रहे इस महाकुंभ में 75 से अधिक देशों के प्रतिनिधि तथा देश के विभिन्न भागों से संत समाज के लोग लेंगे।


राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, अनेक राज्यों के राज्यपाल एवं मुख्यमंत्री, सांसद, विधायक एवं अनेक अन्य गणमाण्य लोग भी इसमें शिरकत करेंगे। इस महाकुंभ में अनेक सामाजिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा जिनमें गरीब लड़कियों के लिए सामूहिक विवाह का आयोजन और शहीदों की विधवाओं के लिए सम्मान समारोह भी शामिल है।


महाकुंभ के दौरान विश्व शांति पुरस्कार प्रदान किए जाएंगे। इस दौरान स्वच्छ भारत मिशन, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ, तन, मन एवं आत्मा पर कार्यशाला, कौशल विकाश एवं उद्यमिता, स्वास्थ्य उर्जा संरक्षण से जुड़े राष्ट्रीय स्तर के कई सामाजिक कार्यक्रम आयोजित किये जाएंगे। 21 अक्टूबर से 31 अक्टूबर के बीच 11 दिनों तक हर दिन प्रात: सात बजे से रात्रि एक बजे तक चलेगा।