चीनी सरकार ने पूर्वी लद्दाख (Ladakh) में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) के पार लगभग 60,000 चीनी सैनिकों को कड़ाके की सर्दी के दौरान भी तैनात कर रखा है। दूसरी ओर, भारत ने भी इतनी ही संख्या में सैनिकों को स्टैंडबाय पर रखा है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि चीन किसी तरह की शरारत न कर सकें।

 60,000 चीनी सैनिक LAC में रहते हैं, बताया जा रहा है कि चीनी सेना (Chinese Army) के सभी ग्रीष्मकालीन प्रशिक्षण कर्मियों को लद्दाख की सीमा से लगे क्षेत्रों से स्थानांतरित कर दिया गया है। राष्ट्रीय मीडिया से बात कर रहे शीर्ष सरकारी अधिकारियों के अनुसार, खतरे की धारणा मौजूद है।

सूत्रों के मुताबिक, भारतीय सेना ने 14 कोर को मजबूत करने के लिए लद्दाख क्षेत्र में अपने आतंकवाद निरोधी राष्ट्रीय राइफल्स यूनिफॉर्म फोर्स के गठन में तेजी लाई है। सूत्रों के अनुसार, भारतीय सेना (Indian Army) ने भी किसी भी संभावित खतरे से निपटने के लिए पूर्व-तैनाती को बनाए रखा है।