अब जल्द ही शराब के शौकीनों के होश उड़ने वाले हैं क्योंकि नई एक्साइज पॉलिसी के बाद शराब के दाम बढ़ने वाले हैं। खबर है दिल्ली सरकार नई एक्साइज पॉलिसी लागू करने वाली है, इस नई पॉलिसी में शराब पर ड्यूटी बढ़ाने की बात कही गई है, अगर ऐसा हुआ तो दिल्ली में शराब का महंगा होना तय है।

दिल्ली से सटे नोएडा, गाजियाबाद के नशेमन सस्ती शराब के चक्कर में दिल्ली चले आते हैं, क्योंकि इन इलाकों के मुकाबले दिल्ली में शराब काफी सस्ती है। लेकिन दिल्ली सरकार अब इनके सुरूर पर ड्यूटी लगाकर अपना खजाना बढ़ाना चाहती है। दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने दो महीने पहले शराब के लिए नई एक्साइज पॉलिसी लाने का संकेत दिया था और इसके लिए एक एक्सपर्ट कमेटी भी बनाई थी। दिल्ली सरकार ने इसके लिए लोगों से भी रायशुमारी की थी।

एक्सपर्ट कमेटी ने जो रिपोर्ट तैयार की है उसमें कई तरह के रिफॉर्म के सुझाव दिए गए हैं, जिससे शराब की कीमतें बढ़ सकती हैं। IANS को सूत्रों ने बताया है कि नई एक्साइज पॉलिसी के आने के बाद कई तरह के बदलाव देखने के मिल सकते हैं जैसे शराब की दुकानें खोलने के लिए लाइसेंस हासिल करने की प्रक्रिया बदल जाएगी। ये सरकारी और प्राइवेट दोनों तरह के ठेकों पर लागू होगा।

हालांकि शराब प्रेमियों के लिए इस पॉलिसी में कुछ अच्छी खबरें भी हैं। सूत्रों के अनुसार उसकी नई एक्साइज पॉलिसी में ज्यादा शराब की दुकानें खोलने की योजना भी है। IANS को सूत्रों ने बताया कि दिल्ली सरकार नई पॉलिसी को लागू कर 700-800 नई शराब की दुकानें खोलेगी। इसके अलावा दिल्ली सरकार शराब पीने की उम्र को भी 21 साल कर सकती है, ड्राई डे की संख्या भी दिल्ली में घटाई जा सकती है।

एक्सपर्ट कमेटी का सुझाव के आधार पर दिल्ली सरकार की योजना देसी और विदेशी शराब की कीमतें 50 परसेंट तक बढ़ाकर अपनी कमाई को 5000 करोड़ रुपये से बढ़ाकर 8000 करोड़ रुपये करने की है। दूसरी ओर पीने की उम्र घटाकर 21 साल करने के प्रस्ताव पर दूसरी पार्टियों ने ऐतराज जताया है, लेकिन दिल्ली सरकार इस पर अडिग रह सकती है। पिछले हफ्ते दिल्ली कैबिनेट ने दिल्ली के डिप्टी मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया की अगुवाई में एक ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स को मंजूरी दी थी, जो नई एक्साइज पॉलिसी का निरीक्षण करेंगे।