असम और मेघालय के अलावा गांगेय पश्चिम बंगाल और बिहार के कुछ हिस्सों में रात का तापमान सामान्य से बहुत अधिक नीचे रहा जबकि सौराष्ट्र और कच्छ के अलावा उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, ओडिशा, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, गुजरात क्षेत्र, कोंकण और गोवा तथा विदर्भ और बिहार के कुछ हिस्सों में रात का तापमान सामान्य से नीचे रहा।


मध्य महाराष्ट्र और तेलंगाना के कुछ हिस्सों में रात का तापमान सामान्य से ऊपर दर्ज किया गया। पश्चिमी राजस्थान के कुछ हिस्सों के अलावा, तटीय आंध्र प्रदेश और रायलसीमा में रात का तापमान सामान्य से काफी ऊपर दर्ज किया गया। इसके अलावा मराठवाड़ा, तमिलनाडु और आंतरिक कर्नाटक के कुछ हिस्सों में रात का तापमान सामान्य से ऊपर दर्ज किया गया।


इसके अलावा पूर्वी राजस्थान और गोवा एवं कोंकण और असम, मेघालय, गांगेय पश्चिम बंगाल, ओडिशा, मध्य प्रदेश, सौराष्ट्र और कच्छ, विदर्भ एवं तमिलनाडु के शेष हिस्सों में रात का तापमान सामान्य से ऊपर दर्ज किया गया। देश के शेष हिस्सों में रात का तापमान सामान्य रहा। पश्चिमी मध्य प्रदेश के माल्दा में न्यूनतम तापमान 8.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

दक्षिण-पूर्वी अरब सागर और लक्षद्वीप के पश्चिम में 55-65 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से तेज हवा चली जो 75 किमी प्रति घंटे की तेज गति पहुंच सकती है। लक्षद्वीप में 40-50 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से चलने वाली तेज हवा की रफ्तार 60 किलोमीटर प्रति घंटे तक बढ़ सकती है।


इन क्षेत्रों में 30-40 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से चलने वाली हवा अगले 12 घंटों में 50 किलोमीटर प्रति घंटे तक पहुंच सकती है। इसके अलावा बंगाल की खाड़ी, हिंद महासागर और निकोबार द्वीप समूह के क्षेत्रों में समुद्र की गतिविधि बहुत तेज रहने की आशंका है। लक्षद्वीप के अधिकतर हिस्सों में तथा तमिलनाडु, केरल और अरुणाचल प्रदेश में कई जगहों पर बारिश हुयी।


इसके साथ ही अरुणाचल प्रदेश, तटीय आंध्र प्रदेश और रायलसीमा के कुछ हिस्सों में तथा असम, मेघालय, पश्चिम बंगाल के पर्वतीय क्षेत्र, सिक्किम, तेलंगाना और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक के अलग-अलग हिस्सों में बारिश हुयी या फिर गरज के साथ छींटे पड़े।


पश्चिम बंगाल और सिक्किम, ओडिशा, झारखंड, बिहार, गुजरात, कोंकण, गोवा, मध्य महाराष्ट्र, मराठवाड़ा और तटीय एवं दक्षिणी आंतरिक कर्नाटक में मौसम शुष्क रहा।