भोपाल. मध्यप्रदेश के खरगोन और बड़वानी में रामनवमी के जुलूसों पर अराजक तत्वों द्वारा पथराव की घटना को मप्र सरकार ने गंभीरता से लिया है। प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने दंगाइयों को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा है कि जिस किसी ने भी पत्थर फेंककर प्रदेश की शांति भंग करने का प्रयास किया है वह तैयार रहे। अब उनके घरों को पत्थर का ढेर बना दिया जाएगा। 

यह भी पढ़े : Numerology 11 April : इन मूलांकों को जन्मे लोग जीवन में करेंगे खूब तरक्की, कैसे जाने अपना मूलांक


गृह मंत्री ने बताया कि खरगोन की घटना में अब तक 77 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। अभी पुलिस छापेमारी कर रही है। कई और लोगों की गिरफ्तारी होनी है। उन्होंने कहा कि खरगोन में अब शांति है। लेकिन पुलिस अपना काम करती रहेगी। एक भी दोषी को छोड़ा नहीं जाएगा।  

10 अप्रैल 2022 को रामनवमी पर खरगोन में जुलूस निकल रहा था। मुस्लिम बहुल इलाके में पहुंचते ही जुलूस पर पथराव किया गया। इसके साथ ही शीतला माता मंदिर में तोड़फोड़ भी की गई। मामला सांप्रदायिक होते ही भारी पुलिस बल और आला अफसर मौके पर पहुंचे। पथराव की चपेट में आकर एसपी सिद्धार्थ चौधरी भी चोटिल हुए। उपद्रवियों को काबू करने के लिए पुलिस को आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े। कलेक्टर अनुग्रह पी ने शहर में कर्फ्यू लगा दिया था। बड़वानी के सेंधवा में भी जुलूस पर कल पथराव हुआ था, लेकिन वहां स्थिति सामान्य है। वहां कर्फ्यू नहीं लगाया गया है। 

यह भी पढ़े : IPL 2022  के अपने डेब्यू मैच में ही इस खिलाड़ी ने कर दिया कमाल ,  राजस्थान को दिलाई रोमांचक जीत 


नरोत्तम ने कहा कि पांच राज्यों के चुनाव परिणाम आने के बाद हार से बौखलाए टुकड़े-टुकड़े गैंग के स्लीपर सेल यह साजिश कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि करोली राजस्थान में दंगे के बाद आज तक कर्फ्यू लगा है, लेकिन खरगोन के दंगे में राजनीति करने वालों ने आज तक करोली को लेकर मुंह नहीं खोला क्यों। क्योंकि वहां कांग्रेस की सरकार है।