रूस में रविवार को एक बड़ा विमान हादसा हो गया, जिसमें 41 लोगों की मौत हो गई।  विमान में मौजूद कुछ लोग घायल भी हुए हैं।   जिन 41 लोगों की मौत हुई है, उनमें दो बच्चे भी शामिल हैं।  रिपोर्ट के मुताबिक, रूस की सरकारी विमानन कंपनी एरोफ्लॉट के विमान में उड़ान भरने के कुछ ही देर बाद आग लग गई।  इसके बाद विमान की आपात लैंडिंग कराई गई।  विमान में 78 यात्री सवार थे। अधिकारियों के अनुसार, मरने वालों में चालक दल की एक सदस्य भी है।  विमान राजधानी मॉस्को से उत्तरी शहर मरमांस्क जा रहा था। विमान की एक एयरहोस्टेस को लोग हीरो कहकर संबोधित कर रहे हैं।  उन्होंने 31 लोगों की जान बचाई है।  उन्होंने लोगों को कॉलर पकड़के पूरी कोशिश के साथ वक्त पर विमान से बाहर निकाल दिया। 

हालांकि इस हादसे के बाद एक एयर होस्टेज की हर तरफ तारीफ हो रही है। इस एयर होस्टेस की पूरी दुनिया 24 घंटे में ही क्यों हो गई कायल? 34 वर्षीय एयर होस्टेज ततयाना कसाटकिना ने अपनी सूझबूझ से कई जानें बचा लीं।  इस एयर होस्टेस की पूरी दुनिया 24 घंटे में ही क्यों हो गई कायल? रिपोर्ट्स के मुताबिक, ततयाना ने आग का गोला बने विमान को खाली कराने के लिए यात्रियों को अपनी पूरी ताकत से बाहर फेंकना शुरू कर दिया था। 

यहां तक कि उन्होंने कई यात्रियों को कॉलर से पकड़ा और उन्हें प्लेन से बाहर फेंका। इस एयर होस्टेस की पूरी दुनिया 24 घंटे में ही क्यों हो गई कायल? एयर होस्टेज ने खुलासा किया कि कई लोग आग से बचने की कोशिश कर रहे थे लेकिन कुछ लोग अपने सामान को ले जाने की भी कोशिश कर रहे थे जिससे रास्ता ब्लॉक हो रहा था।  इस एयर होस्टेस की पूरी दुनिया 24 घंटे में ही क्यों हो गई कायल? प्लेन खाली कराने के दौरान एयर होस्टेज को भीड़ को आगे बढ़ाने के लिए लोगों को धक्के मारकर प्लेन से बाहर निकालना पड़ा।