नेशनल हेराल्ड से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी से दूसरे दिन भी प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की पूछताछ जारी है। इस कड़ी में पार्टी के दिग्गज नेता पी. चिदंबरम ने मंगलवार को भाजपा पर निशाना साधा और एफआईआर की कॉपी मांगी। 

ये भी पढ़ेंः ड्रग मामले में अभिनेता सिद्धांत कपूर सहित अन्य आरोपी हुए रिहा, रेव पार्टी में हुए थे शामिल


पूर्व वित्त मंत्री ने ट्विटर पर कहा, क्या भाजपा के प्रवक्ता निम्नलिखित सवालों का जवाब देंगे, पीएमएलए के तहत 'अनुसूचित अपराध' कौन सा है, जिसपर ईडी द्वारा जांच शुरू की गई है? किस पुलिस एजेंसी ने अनुसूचित अपराध के संबंध में एफआईआर दर्ज की है? कहां है एफआईआर? क्या आप हमें एफआईआर की कॉपी दिखाएंगे? क्या आप जानते हैं कि अनुसूचित अपराध में अनुपस्थित रहने और एफआईआर न करने के कारण ईडी को पीएमएलए के तहत जांच शुरू करने का कोई अधिकार नहीं है?

ये भी पढ़ेंः कांग्रेस का केंद्र पर हमला, राहुल की आवाज दबाने की कोशिश में है मोदी सरकार


इस बीच कांग्रेस ने मोदी सरकार पर राहुल गांधी की आवाज दबाने की कोशिश करने का आरोप लगाया। ईडी ऑफिस पहुंचने से पहले राहुल गांधी ने कबीर दास की जंयती पर उनका का एक दोहा ट्वीट किया, जिसका अर्थ है कि सत्य को डरने की कोई जरुरत नहीं होती। सोमवार को एजेंसी के अधिकारियों ने राहुल गांधी से कई घंटों तक पूछताछ की। उन्हें तीन घंटे के बाद लंच ब्रेक दिया गया, इस दौरान वह अपनी मां और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलने गए, जिनका सर गंगा राम अस्पताल में इलाज चल रहा है।इसके बाद राहुल गांधी ईडी के मुख्यालय लौटे, जहां फिर से उनसे पूछताछ की गई और वह देर रात दफ्तर से बाहर निकले।