कोरोना कहर से देश में अस्पतालों की कमी देखी जा रही है। कोरोना के इतने मरीज सामने आ रहे हैं कि अस्पतालों में बेड ही नहीं मिल रहे हैं। लोगों का घर पर ही इलाज किया जा रहा है। कोरोना से बचने के लिए कई तरह के उपाय किए जा रहे हैं लेकिन कोरोना हमला  करता ही जा रहा है। हाल ही में बिहार में कोरोना संकट को देखते हुए पटना के महावीर मंदिर न्यास समिति ने 40 बेड के कोविड अस्पताल की शुरुआत की है।


मंदिर में अस्पताल का होना बताता है कि कोरोना कितना कहर ढा रहा है। बता दें कि इस हॉस्पिटल में सरकारी दर पर जरूरतमंदों का इलाज किया जाएगा। महावीर मंदिर न्यास समिति के सचिव आचार्य किशोर कुणाल के मुताबिक इस हॉस्पिटल में नियुक्त डॉक्टरों के अलावा अमेरिका में कोविड अस्पताल चला रहे बिहारी मूल के चिकित्सक भी अपनी सेवाएं देंगे। कोरोना मरीजों को यहां क्वारंटाइन भी किया जा सकता है।

किशोर कुणाल ने बताया कि इस अस्पताल के लिए मंदिर न्यास समिति की ओर से 10 लाख रुपए का अनुदान भी दिया गया है। बता दें कि कुणाल ने संस्थान के चिकित्सकों और अन्य कर्मियों से कोरोना मरीजों का इलाज समर्पण भाव से करने का आह्वान किया है। बताया गया कि महावीर मंदिर न्यास समिति ने यह फैसला लिया है कि कोरोना मरीजों का इलाज करने वाले डॉक्टरों और दूसरे स्वास्थ्यकर्मियों का महावीर मंदिर में सम्मान किया जाएगा।