यूपी चुनाव में अपनी-अपनी पार्टी के प्रत्याशी को जिताने के लिए निकले अखिलेश-जयंत का सामना कांग्रेस की प्रियंका गांधी से हुआ तो समर्थकों ने हूटिंग शुरू कर दी। एक छोर पर सपा और रालोद के समर्थक थे तो दूसरी ओर कांग्रेस के। दोनों नेताओं ने एक-दूसरे को जीत की बधाई भी दी। इसका वीडियो भी खूब वायरल हो रहा है। 

यह भी पढ़े : अमेरिका ने रोकी पाकिस्तानी राजदूत की US में नियुक्ति, पाकिस्तान बोला - भारत ने रुकवाई नियुक्ति

दरअसल बुलंदशहर में सपा और कांग्रेस के नेता मौजूद थे। सभी अपने-अपने प्रत्याशियों को जिताने की अपील कर रहे थे। गुरुवार की देर शाम को समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव और रालोद नेता जयंत चौधरी अपने समर्थकों के साथ शहर की सड़कों पर वोट मांगने निकले थे। इसी दौरान कांग्रेस के समर्थक प्रियंका गांधी के साथ पहुंच गए।

एक ओर सपा नेता और दूसरी ओर कांग्रेसी थे। अखिलेश और जयंत ने गाड़ी से प्रियंका गांधी को देखकर हाथ हिलाया और जीत की बधाई दी। वहीं दूसरी ओर प्रियंका गांधी ने भी अपनी गाड़ी से हाथ हिलाकर उनकी पार्टी के प्रत्याशी को जीत के लिए बधाई दी। 

यह भी पढ़े : कोरोना की तीसरी लहर में औसतन 44 वर्ष की आयु की युवा आए चपेट में ,गले में खराश की समस्या रही ज्यादा


दोनों नेताओं द्वारा एक-दूसरे को बधाई देने का सिलसिला जैसे ही शुरू हुआ तो दोनों ओर से मौजूद समर्थकों ने हूटिंग शुरू कर दी। इस दौरान सड़क पर काफी संख्या में जमावड़ा लग गया। इसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। 

बुलंदशहर पहुंची प्रियंका गांधी ने कांग्रेस प्रत्याशी के लिए घर-घर जाकर वोट मांगे। प्रियंका ने डोर-टू-डोर प्रचार के दौरान कहा, चुनाव सार्वजनिक प्रासंगिकता, विकास के मुद्दों पर लड़ा जाना चाहिए, न कि सांप्रदायिकता या जाति पर। लोग जानना चाहते हैं कि उनके लिए क्या किया गया है, चाहे वह सड़कों के बारे में हो या स्वास्थ्य के बुनियादी ढांचे के बारे में। इस दौरान वह बुलंदशहर बलात्कार पीड़ित महिला के परिवार वालों से भी मिलीं। उन्होंने कहा, पुलिस मामले को दबाने की कोशिश कर रही है। पीड़ित परिवार पर दबाव बनाया जा रहा है। परिजन कह रहे हैं कि सामूहिक दुष्कर्म हुआ है लेकिन पुलिस कोई ध्यान नहीं दे रही है। हमने परिवार को आश्वासन दिया है और उन्हें न्याय सुनिश्चित करेंगे।