नए IT नियमों को फॉलो करते हुए WhatsApp ने अपनी दूसरी रिपोर्ट पेश की है। कंपनी ने 16 जून से 31 जुलाई 2021 के बीच 30 लाख से ज्यादा इंडियन अकाउंट्स बैन कर दिए है। एक स्टडी के मुताबिक WhatsApp ने 3,027,000 से ज्यादा इंडियन अकाउंट्स पर बैन लगा दिया है। दरअसल एक इंडियन अकाउंट की पहचान +91 फोन नंबर से की जाती है।

इससे पहले, WhatsApp ने कहा है कि 95% से ज्यादा बैन ऑटोमेटेड या बल्क मैसेजिंग (स्पैम) के गलत इस्तेमाल करने की वजह से हैं। WhatsApp द्वारा अपने प्लेटफॉर्म पर दुरुपयोग को रोकने के लिए ग्लोबल एवरेज अकाउंट की संख्या प्रति माह लगभग 8 मिलियन अकाउंट हैं। WhatsApp ने अपनी लेटेस्ट रिपोर्ट में कहा कि उसे 16 जून से 31 जुलाई के दौरान अकाउंट सपोर्ट (137), बैन अपील (316), अन्य सपोर्ट (45), प्रोडक्ट सपोर्ट (64) और सेफ्टी (32) में 594 यूजर रिपोर्ट मिली हैं। रिपोर्ट के अनुसार इस अवधि के दौरान 74 अकाउंट्स पर कार्रवाई की गई। 

WhatsApp ने समझाया कि "एकाउंट्स एक्शन" उन रिपोर्टों को दर्शाता है जहां उसने रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की। WhatsApp के प्रवक्ता ने एचटी टेक को बताया कि वर्षों से, हमने अपने उपयोगकर्ताओं को अपने प्लेटफॉर्म पर सुरक्षित रखने के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और अन्य अत्याधुनिक तकनीक, डेटा वैज्ञानिकों और विशेषज्ञों और प्रक्रियाओं में लगातार निवेश किया है। आईटी नियम 2021 के अनुसार, हमने 46 दिनों की अवधि के लिए अपनी दूसरी मासिक रिपोर्ट 16 जून से 31 जुलाई तक प्रकाशित की है। इस उपयोगकर्ता-सुरक्षा रिपोर्ट में उपयोगकर्ता की शिकायतों के बारे में जानकारी दी गई। WhatsApp ने कहा कि उसे भारत में उपयोगकर्ताओं से दो तरीकों से शिकायतें मिलीं। पहला व्हाट्सऐप की सेवा की शर्तों के उल्लंघन के संबंध में भारत में व्हाट्सऐप के शिकायत अधिकारी को भेजे गए ई-मेल के माध्यम से या व्हाट्सऐप खातों के बारे में प्रश्न, सहायता केंद्र में प्रकाशित और दूसरा डाक के माध्यम से भारत शिकायत अधिकारी को भेजे गए मेल के माध्यम से है।