कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) शनिवार को गोवा पहुंचे. यहां उन्होंने एक बार फिर किसानों के ऋण माफ करने का वादा दोहराया. राहुल ने कहा कि हम छत्तीसगढ़ में चुनाव (elections in Chhattisgarh)  लड़े और किसानों का ऋण माफ करने का वादा किया. हम पंजाब और कर्नाटक जाएं, वहां भी ऐसा ही किया. मैनिफेस्टो में जो होता है वह सिर्फ वादा (manifesto is not just a promise but a guarantee)  नहीं बल्कि गारंटी होती है.

राहुल ने कहा यूपीए सरकार के दौरान, अंतरराष्ट्रीय ईंधन की कीमतें 140 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंच गईं. आज अंतरराष्ट्रीय बाजार में ईंधन की कीमतें बहुत कम हैं लेकिन फिर भी आप अधिक दाम में खरीद रहे हैं.  भारत दुनिया में सबसे ज्यादा ईंधन पर टैक्स लगा रहा है.ध्यान से देखें तो 4-5 व्यवसायियों को ही इससे लाभ हो रहा है.

राहुल गांधी ने कहा आपके दिल और दिमाग में क्या है, यह सुनने में मुझे दिलचस्पी है. हमारी रणनीति है कि  गोवा के लोगों की आवाज बनने और उनके हितों की रक्षा करना चाहते हैं. राहुल ने कहा- हम नहीं चाहते कि गोवा एक कोल हब बने.  इससे गोवा को  फायदा नहीं होगा.बल्कि इससे पर्यावरण को नुकसान होगा. मैं आपके विचारों को सुनना चाहता हूं कि आप किन दिक्कतों का सामना कर रहे हैं.चीजें कैसे बदल रही हैं, पर्यावरण कैसे बदल रहा हैं.

राहुल ने कहा मैं चाहता हूं कि आप मेरे साथ परिवार के सदस्य की तरह मानें. शरमाएं नहीं. मुझे बताएं कि आप मुझे यहां क्या चाहते हैं ताकि मुझे पता चले कि आपके मुद्दे क्या हैं. जहां तक मेरा सवाल है, गोवा में सबसे महत्वपूर्ण चीज पर्यावरण है और जिसे हर कीमत पर संरक्षित किया जाना है. हम गोवा को प्रदूषित जगह नहीं बनने देंगे. राहुल ने कहा कि मैं यहां जो भी कहूंगा वह गोवा में निश्चित होगा. दूसरे नेताओं की तरह मैं झूठ नहीं बोलता.

राहुल ने कहा कि और मैं आपको विश्वास दिलाता हूं अगर मैं यहां कुछ भी कहूंगा तो वह गोवा में होकर रहेगा. हम गोवा में कोल हब नहीं बनने देंगे. हम सिर्फ गोवा के लोगों के लिए पर्यावरण की रक्षा नहीं कर रहे हैं. हम भारत के लोगों के लिए पर्यावरण की रक्षा कर रहे हैं.