दुनिया में कोरोना वायरस के कारण लॉकडाउन लागू किया गया। जिससे कई व्यापार ठप हो गए और बाजार में मंदी आ गई। लोगों की रोजी रोटी छीन गई। लोग कोरोना के कारण नहीं बल्की भूख के कारण भी मर रहे हैं। कई लोगों ने कोरोना के खौफ से ही आत्महत्या कर ली। इससे बड़ा खौफ और क्या ही हो सकता है। लेकिन इससे भी खतरनाक एक और बात है  स्कूल बंद होने के बाद बच्चों का पढ़ाई का तो नुकसान हुआ ही है साथ ही रोज रेप होने से उनकी जिंदगी का भी भारी नुकसान हुआ है।

लॉकडाउन में मां-बाप के काम-धंधे ठप होने से घर में खाने के लाले पड़ गए। इन हालातों में कुछ मां-बाप और बच्चियों ने मजबूर होकर देह व्यापार करना शुरू कर दिया। इन बच्चियों को खेलने पढ़ने की उम्र में ही मर्द सोने के लिए दे दिए और हाथ में कंडोम थमा दिए। मजबूरन करने भी क्या। साथ में सोने से उनको पैसे मिलते तो कभी मार मिलती। यह घटना केन्या में हुई है। यहां कि राजधानी नैरोबी में ये बच्चियां अपने घर को चलाने के लिए कोरोना वायरस से नहीं बल्कि भूख के लिए लड़ रही है।
इन लड़कियों की उम्र महज 16, 17 और 18 साल की ही है। केन्या की पूर्व सेक्स वर्कर ने ‘नाइट नर्स’ नाम से एक अभियान चलाया। जिसमें हैरान कर देने वाला खुलासा हुआ कि स्कूल बंद होने के बाद नैरोबी और उसके इलाकों से करीब 1,000 स्कूल छात्राएं सेक्स वर्कर बन गई हैं। जो मां-बाप की घर का खर्च चलाने में मदद कर रही हैं। 11 साल की लड़की से लेकर यहां 18 साल की लड़कियां सेक्स वर्कर के रूप में काम कर रही है।