पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हिंसा ने लिया भयंकर रूप ले लिया है जिसके चलते भाजपा मंडल अध्यक्ष का शव पार्टी कार्यालय के पास बरामद हुआ है। बंगाल में विधानसभा चुनाव की तारीख जैसे-जैसे नजदीक आ रही है, वैसे-वैसे राजनीतिक हिंसा बढ़ती जा रही है। भाजपा और टीएमसी में सत्ता की जंग के बीच यहां के कूचबिहार के दिनहाटा में भाजपा कार्यालय के पास के पार्टी के मंडल अध्यक्ष का शव मिलने से हड़कंप मच गया है। भाजपा कार्यकर्ताओं ने तृणमूल कांग्रेस पर आरोप लगाया है कि यह एक पूर्व-नियोजित हत्या है। वे चाहते हैं कि हम डर के मारे घरों में बैठें, लेकिन हम अपनी लड़ाई जारी रखेंगे।।

इससे पहले भी हाल ही में कोलकाता से सटे सोनारपुर में एक बीजेपी कार्यकर्ता विकास नस्कर का शव पेड़ से लटकता मिला था। बीजेपी ने कहा है कि विकास नस्कर की हत्या कर दी गई है। वह बूथ नंबर 57 का बीजेपी का कार्यकर्ता था। बीजेपी ने आरोप लगाया था कि विकास नस्कर को टीएमसी के गुंडों ने मारकर उसके शव को रस्सी के सहारे पेड़ से टांग दिया। ऐसा दिखाने की कोशिश की गयी है मानो विकास ने आत्महत्या की है।

बंगाल में बीजेपी पिछले दस सालों से सत्ता पर काबिज ममता बनर्जी की सरकार को उखाड़ फेंकने की पुरजोर कोशिश कर रही है। पार्टी ने राज्य के चुनाव प्रचार के लिए मुख्यमंत्रियों, केंद्रीय मंत्रियों समेत दिग्गज नेताओं की पूरी फौज उतार दी है। बता दें कि पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए मतदान 27 मार्च से शुरू होगा। मतदान आठ चरणों में 29 अप्रैल तक चलेगा जिसके बाद 2 मई को परिणाम घोषित किए जाएंगे।