पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री एवं तृणमूल काँग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी ने विधानसभा चुनावों में जीत हासिल कर लेने का पूरा भरोसा जताया है। बनर्जी ने हुगली जिले में सोमवार को चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा, 'मैं बंगाल को एक पैर से जीत लूँगी और भविष्य में दिल्ली को दोनों पैरों के बल पर जीत लूँगी।'

तृणमूल सुप्रीमो ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी को चुनाव लडऩे के लिए स्थानीय उम्मीदवार नहीं मिल पा रहे हैं। उनके सारे उम्मीदवार या तो तृणमूल कांग्रेस से गये नेता हैं या वे माक्र्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी छोड़कर भाजपा में शामिल हुए लोग हैं। उन्होंने कहा कि जो लोग ठीक ढंग से सोनार बांग्ला नहीं बोल सकते, वे बंगाल पर शासन नहीं कर सकते। मुख्यमंत्री ने कहा कि वह मतदाताओं से अपील करती हैं कि तृणमूल कांग्रेस को भारी बहुमत से विजयी बनायें। 

उन्होंने कहा कि तृणमूल को भारी बहुमत न मिलने पर भाजपा खरीद-फरोख्त करके सरकार बना लेगी। उन्होंने कहा, 'मैं नंदीग्राम में जीत हासिल कर रही हूँ लेकिन यह चुनाव मेरे लिए ही नहीं है। आपको तृणमूल को 200 से अधिक सीटें जिताना सुनिश्चित करना होगा अन्यथा भाजपा धनबल का इस्तेमाल करके गद्दारों को खरीद लेगी।'

बनर्जी ने कोरोना वायरस के मामले बढऩे का जिक्र करते हुए बंगाल में आठ चरण के लंबे चुनाव कराने के लिए अधिकारियों की खिंचाई की। तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ने सवाल करते हुए कहा कि आठ चरणों के चुनाव कराने की क्या जरूरत थी। यह सब भाजपा मंडली का किया-धरा है। कोविड-19 के वर्तमान हालात को देखते हुए क्या वे चुनावों को कम समय में नहीं निपटा सकते थे।