पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ चाय पर चर्चा की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उपस्थिति में अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी सहित देश के अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने विज्ञान भवन, नई दिल्ली में मुख्यमंत्रियों और उच्च न्यायालयों के मुख्य न्यायाधीशों के संयुक्त सम्मेलन में हिस्सा लिया।

ये भी पढ़ेंः कोरोना से जंग में गंवाई थी वरिष्ठ चिकित्स ने अपनी जान, अब केजरीवाल सरकार ने दिए 1 करोड़ रुपए


प्रधानमंत्री मोदी ने शनिवार को दिल्ली के विज्ञान भवन में सम्मेलन का उद्घाटन किया। सम्मेलन के बाद सीएम बनर्जी ने पीएम मोदी से मुलाकात की इस दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी के उद्घाटन भाषण की सराहना की। साथ ही उन्हें शुभकामनाएं दीं। उद्घाटन सत्र के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, हमारे देश में आज भी हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट की सारी कार्यवाही अंग्रेजी में होती है। हमें कोर्ट में स्थानीय भाषाओं को प्रोत्साहन देने की जरूरत है। साथ ही यह भी कहा कि मुझे विश्वास है कि संविधान की दो धाराओं का संगम देश में प्रभावी और समयबद्ध न्याय व्यवस्था का रोडमैप तैयार करेगा।

ये भी पढ़ेंः युद्ध लंबा चलने से बौखला गए हैं पुतिन, अब यूक्रेन को तबाह करने के लिए बनाया ऐसा खतरनाक प्लान


वहीं ममता बनर्जी ने सम्मेलन के दौरान कलकत्ता हाईकोर्ट के विस्तार की बातें कहीं। उन्होंने कलकत्ता हाईकोर्ट को राजराहाट विस्तार करने पर चर्चा की। हालांकि ममता बनर्जी के दिल्ली दौरा काफी संक्षिप्त है पहले ये समझा जा रहा था कि पीएम नरेंद्र मोदी के साथ उनकी मुलाकात नहीं होगी। एक दिन पहले शुक्रवार को टीएमसी अध्यक्ष ममता बनर्जी ने शुक्रवार को दिल्ली में सीएम व आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल से भी मुलाकात की थी।