शनिवार को बंगाल के नॉर्थ 24 परगना जिले में भाजपा की परिवर्तन यात्रा पर हमला हुआ। इस दौरान पार्टी के कई कार्यकर्ता घायल हो गए। कई गाड़ियों में तोड़फोड़ भी कई गई। पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव से पहले हिंसा बढ़ती जा रही है। भाजपा राज्य में परिवर्तन यात्रा निकाल रही है। आरोप है कि राज्य में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ता इसे निशाना बना रहे हैं। शनिवार को नॉर्थ 24 परगना जिले में भाजपा की परिवर्तन यात्रा पर हमला हुआ। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष के काफिले को निशाना बनाया गया। इस दौरान खुलेआम पेट्रोल बम और रॉड्स का इस्तेमाल हुआ।

न्यूज एजेंसी के मुताबिक, दिलीप घोष परिवर्तन यात्रा की अगुवाई कर रहे थे। जब यह नॉर्थ 24 परगना जिले से गुजरी तो यहां तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने इस पर हमला कर दिया। इस दौरान दिलीप के काफिले में चल रही गाड़ियों को निशाना बनाया गया। ज्यादातर गाड़ियों के कांच तोड़ दिए गए। पुलिस के मुताबिक, इस दौरान भाजपा और टीएमसी के कार्यकर्ताओं में हिंसक झड़प भी हुई। दोनों पार्टियों ने एक-दूसरे पर हमले का आरोप लगाया है। भाजपा ने कहा है कि बशीरहाट में भाजपा कार्यकर्ताओं के मारपीट भी की गई है। इसमें एक कार्यकर्ता गंभीर रूप से घायल हुआ है।

दूसरी तरफ, तृणमूल कांग्रेस ने आरोप लगाया कि भाजपा कार्यकर्ताओं ने बशीरहाट के मिनाखा क्षेत्र में उसके दफ्तर पर हमला किया। इसमें एक टीएमसी वर्कर घायल हो गया। टीएमसी का आरोप है कि यह हमला परिवर्तन यात्रा के दौरान किया गया। इस दौरान एक मिल्क वैन को भी निशाना बनाया गया।

इससे पहले पश्चिम बंगाल दौरे पर गए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के काफिले पर 10 दिसंबर 2020 को तृणमूल (TMC) समर्थकों ने पथराव किया था। इसमें बंगाल के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय समेत पार्टी के कुछ नेता घायल हो गए थे।

इस हमले के बाद टीएमसी से भाजपा में आए शुभेंदु अधिकारी ने कहा था- मिनी पाकिस्तान से आए लोग हमारी रैली पर पत्थर फेंक रहे हैं। कोलकाता कॉर्पोरेशन से जुड़े लोग भी इसमें शामिल हैं, लेकिन हमारे साथियों ने उन्हें जिस तरह खदेड़ा, वो देखने वाली बात थी। इससे मुझे मोदी जी की वो बात याद आई, जिसमें वे कहते हैं- घुस के मारा।