तमिलनाडु के मंत्री मा सुब्रमण्यम (CM Ma Subramanian) ने कहा कि सरकार लगातार स्थिति की समीक्षा कर रही है और वर्तमान में चेन्नई (Chennai) के 15 क्षेत्रों में बारिश की स्थिति की समीक्षा के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त किए गए हैं। निचले इलाकों में रहने वाले लोगों को सरकार द्वारा प्रदत्त आश्रयों में जाने की सलाह दी जाती है।


बता दें कि अभी 1 लाख से अधिक जरूरतमंद लोगों को आवश्यक और भोजन उपलब्ध कराया गया। पुडुचेरी और कराईकल प्रशासन के प्रशासन ने सभी शैक्षणिक संस्थानों में अवकाश घोषित (holidays) कर दिया है। चेन्नई और उसके आस-पास के क्षेत्रों में मानसून (monsoon) के मौसम के दौरान चक्रवाती परिसंचरण के अनुसार भारी वर्षा हुई।


बारिश के कारण कई क्षेत्रों में बाढ़ आ गई और अतिरिक्त पानी को बाहर निकालने के लिए शहर के तीन जलाशयों के पानी के द्वार खोल दिए गए। अक्टूबर के महीने में पूर्वोत्तर मानसून की शुरुआत के बाद से पुडुचेरी और तमिलनाडु के क्षेत्रों में 43 प्रतिशत अधिशेष वर्षा हुई है। छह वर्षों के बाद शहर में केवल 24 घंटों में भारी से बहुत भारी वर्षा हुई, हालांकि तमिलनाडु (Tamil Nadu) के अन्य आस-पास के क्षेत्रों में मध्यम और हल्की वर्षा हुई।