भारत के उत्तरी पर्वतीय राज्यों उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश और जम्मू-कश्मीर में हो रही बर्फबारी के चलते मैदानी इलाकों में शीत लहर चल रही है। इस वजह से दिल्ली, पंजाब, राजस्थान समेत उत्तर भारत के अधिकतर राज्यों के तापमान में गिरावट आ रही है। मध्य प्रदेश में भी पारा गिरा है।

उत्तर प्रदेश, राजस्थान, दिल्ली में बीते कुछ दिनों में सुबह और शाम के समय तापमान सामान्य से बहुत नीचे चले जाने के कारण ठंड अपने पैर पसार रही है, लेकिन इसके बावजूद क्रिसमस से पहले राजधानी में शीतलहर (Cold Wave) की संभावना कम ही दिखाई दे रही हैं।

दिल्ली का न्यूनतम तापमान बीते सप्ताह से 10 डिग्री सेल्सियस से कम दर्ज किया जा रहा है। सफदरजंग वेधशाला के अनुसार, 9 से 15 दिसंबर के बीच न्यूनतम तापमान 9 डिग्री या इससे कम ही रहा है। 12 दिसंबर को यह अपने निचले स्तर 6.4 डिग्री पर पहुंच गया था।

मौसम विभाग (IMD) के पूर्वानुमान के मुताबिक, दिल्ली में 18 से 22 दिसंबर तक न्यूनतम तापमान 6 डिग्री जबकि अधिकतम तापमान 20-21 डिग्री सेल्सियस तक जाने की संभावना है।

मौसम विभाग के अनुसार, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश और जम्मू-कश्मीर में बर्फबारी की वजह से मध्य प्रदेश, राजस्थान में ठंडी हवाएं चल रही हैं। मध्य प्रदेश के ग्वालियर एवं चंबल संभागों के जिलों सहित एवं भोपाल, उज्जैन, शाजापुर, राजगढ़, नीमच, मंदसौर, छतरपुर, टीकमगढ़, निवाड़ी एवं बालाघाट जिलों में पूरे सप्ताह हल्के से मध्यम कोहरा (Fog) छाए रहने की संभावना है।

कश्मीर में शीतलहर (Cold Wave) का प्रकोप बढ़ने के साथ ही अधिकतर जगह रात के समय तापमान शून्य से नीचे है। मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के मुताबिक, घाटी में अगले कुछ दिनों में न्यूनतम तापमान में और गिरावट दर्ज की जा सकती है। उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा में तापमान शून्य से 4.4 डिग्री सेल्सियस नीचे पहुंच गया है, जबकि दक्षिण कश्मीर के काजीगुंड में तापमान शून्य से 3.2 डिग्री सेल्सियस नीचे है।