मौसम विभाग (IMD) के अनुसार मानसून (Monsoon) अब लगभग विदा हो चुका है। लेकिन देश के दक्षिणी इलाकों में अभी भी बारिश का दौर जारी रहेगा। हालांकि उत्तर भारत के किसी भी राज्य में अब बारिश की संभावना न के बराबर है। दक्षिण-पश्चिम मानसून ने देश से विदाई ले ली है। लेकिन उत्तर-पूर्वी मानसून की तमिलनाडु में आहट सुनाई दे रही है। इसी मानसून के कारण देश के दक्षिणी राज्यों में बारिश होगी।

मौसम विभाग (Mausam vibhag) के अनुसार 30 अक्टूबर तक तमिलनाडु, पुड्डुचेरी, केरल और माहे में भारी बारिश हो सकती है। दक्षिणी आंतरिक कर्नाटक और रायलसीमा में 29 और 30 अक्टूबर को जबकि तटीय आंध्र प्रदेश में 28 से 30 अक्टूबर के बीच भारी बारिश के आसार हैं। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक, केरल, माहे, तटीय और दक्षिणी आंतरिक कर्नाटक, तमिलनाडु और पुड्डुचेरी में 30 अक्टूबर तक गरज-चमक के साथ हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है। गरज-चमक के साथ तटीय आंध्र प्रदेश और रायलसीमा में भी बादल बरसेंगे।

यह भी पढ़ें— दुनिया के सबसे बड़े मुस्लिम देश के राष्ट्रपति की बेटी ने अपनाया हिंदू धर्म, जानिए क्यों


IMD द्वारा तमिलनाडु और पुडुचेरी में उत्तर पूर्व मानसून (north east monsoon) के आने का ऐलान करने के बाद से ही मुख्यमंत्री ने सतर्कता बरतते हुए खाद्य संसाधनों व दवाओं की पर्याप्त व्यवस्था को लेकर निर्देश जारी कर दिया है।

मौसम अपडेट्स देने वाली एजेंसी स्काईमेट वेदर के अनुसार बुधवार को तमिलनाडु, केरल और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक में अलग-अलग स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश के साथ कहीं-कहीं भारी बारिश हो सकती है। तमिलनाडु के तटीय क्षेत्रों और तटीय कर्नाटक के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है।