मौसम विभाग के अनुसार बंगाल की खाड़ी में तूफान उठ रहा है जिसकी वजह से देश के कई  राज्यों एकबार फिर बारिश का दौर शुरू हो सकता है। इसके साथ ही केन्द्र द्वारा संचालित संस्था सफर का अनुमान है कि दिल्ली के प्रदूषण में पराली के धुएं की हिस्सेदारी 19 फीसदी तक पहुंच गई है।

भारतीय मौसम के पूर्वा अनुमान के अनुसार आगामी दिनों में दिल्ली में सुबह और शाम ठंड का एहसास बढ़ेगा। जबकि दिन में धूप खिलने से अधिकतम तापमान अभी भी सामान्य से ज्यादा रह सकता है।

आज दक्षिण-पश्चिम मॉनसून झारखंड, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, गुजरात, ओडिशा और महाराष्ट्र के कुछ हिस्सों में मानसून वापस लौट सकता है। मानसून के लौटने की आशंका के साथ ही इन इलाकों में तेज हवाओं के साथ हल्की बारिश दर्ज की जा सकती है। पूर्वोत्तर भारत के विदर्भ, मराठवाड़ा, तटीय ओडिशा, जम्मू कश्मीर के उत्तरी भागों, गिलगित बाल्टिस्तान और मुज़फ्फराबाद में छिटपुट जगहों पर हल्की बारिश हो सकती है।

बंगाल की खाड़ी पर एक नया चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र दक्षिण-पश्चिमी भागों पर विकसित हो गया है। इसके प्रभाव से बंगाल की खाड़ी पर उत्तरी अंडमान सागर और इससे सटे भागों पर 29 अक्टूबर को एक नया निम्न दबाव क्षेत्र विकसित हो सकता है। वहीं, अरब सागर पर भी कर्नाटक के तटों के पास एक चक्रवाती सिस्टम बना हुआ है।