राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में भले ही इस साल जनवरी और फरवरी में रिकॉर्ड तोड़ बारिश हुई हो, लेकिन 1 मार्च के बाद से दिल्ली में कोई खास बारिश नहीं हुई है और विशेषज्ञों का कहना है कि यह वह फैक्टर है जो शहर भर को गर्मी से जला रहा है। उत्तर भारत में रविवार को भीषण लू चलने के साथ दिल्ली के कुछ इलाकों में तापमान 49 डिग्री सेल्सियस के पार चला गया था। 

यह भी पढ़े : Buddha Purnima Shubh muhurat 2022: आज बुद्ध पूर्णिमा पर इस समय करें पूजा, इन वस्तुओं का करें दान


साल का पहला महीना यानी जनवरी दिल्ली में 121 वर्षों में सबसे गर्म महिना था और फरवरी आठ वर्षों में शहर का सबसे गर्म महीना था। लेकिन 1 मार्च से 15 मई के बीच, दिल्ली में केवल 1.7 मिमी बारिश दर्ज की गई है जोकि सामान्य वर्षा 37.5 मिमी के मुकाबले 95.5% प्रतिशत की कमी थी जिसके कारण गर्मी के आसार बने। हालांकि इसके साथ ही मौसम विभाग ने सोमवार यानी आज से कुछ राहत मिलने का अनुमान जताया है।

यह भी पढ़े : Chandra grahan 2022: आज चंद्र ग्रहण वृश्चिक राशि में, इन 5 राशियों पर नकारात्मक असर पड़ सकता है


इन जगहों पर आज से मिलेगी तपती गर्मी से राहत

इस बीच, मौसम विभाग ने सोमवार को दिल्ली और हरियाणा राज्यों में भीषण गर्मी से कुछ राहत मिलने का अनुमान जताया है। विभाग ने कहा कि अगले 24 घंटों के दौरान मौसम शुष्क रहने की संभावना है जबकि अगले 48 घंटों में छिटपुट स्थानों पर हल्की बारिश होने का अनुमान है। मौसम विभाग ने सोमवार शाम से भीषण गर्मी से राहत मिलने का अनुमान जताया है। एक अधिकारी ने कहा, ‘‘16 मई तक शुष्क और साफ मौसम जारी रहने की संभावना है। 16 मई (शाम) से 18 मई तक मध्यम बारिश या कुछ स्थानों पर ओलावृष्टि, गरज के साथ बौछार पड़ने और ऊंचाई वाले इलाकों में हिमपात की संभावना है।’’

यह भी पढ़े : Chandra grahan 2022 timing: आज सुबह 7 बजकर 58 मिनट से शुरू होगा पूर्ण चंद्र ग्रहण, चांद का रंग भी खूनी लाल रंग का होगा


मौसम विभाग ने केरल के पांच जिलों के लिए ‘रेड अलर्ट’ जारी किया

दक्षिण पश्चिम मानसून के दस्तक देने से कई दिन पहले ही केरल में बारिश का दौर शुरू हो गया है। इस बीच, भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने रविवार को राज्य के पांच जिलों में रविवार और सोमवार को मूसलाधार बारिश होने की चेतावनी जारी की है। आईएमडी ने एर्णाकुलम, इडुकी, त्रिशूर, मलाप्पुरम और कोझिकोड में रविवार को भारी बारिश होने के मद्देनजर ‘‘रेड अलर्ट’’ जारी किया है।

वहीं विभाग ने सोमवार के लिए एर्णाकुलम, इडुकी, त्रिशूर, कोझिकोड और कन्नूर जिलों के लिए रेड अलर्ट जारी किया है। विभाग के मुताबिक कासरगोड को छोड़कर राज्य के बाकी जिलों के लिए रविवार को ‘ऑरेंज अलर्ट’’ जारी किया गया है। केरल के राजस्व मंत्री के.राजन ने मीडिया को बताया कि सभी जिलाधिकारियों को किसी भी आपात स्थिति से निपटने के निर्देश दिए गए हैं।

हरियाणा के गुरुग्राम में अधिकतम तापमान 48.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो 10 मई 1966 के 49 डिग्री सेल्सियस तापमान के बाद से सर्वाधिक है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने रविवार को कहा कि उत्तर-पश्चिमी दिल्ली के मुंगेशपुर में तापमान 49.2 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया, जबकि दक्षिण-पश्चिमी हिस्से में तापमान नजफगढ़ में 49.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

यह भी पढ़े : Horoscope 16 May 2022 : आज इन लोगों के जीवन में आएगी तरक्की, लाभ और शुभ समाचार मिलेगा


मौसम विभाग के मुताबिक, स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में पारा 48.4 डिग्री दर्ज किया गया जबकि जफरपुर, पीतमपुरा और रिज में तापमान क्रमश: 47.5 डिग्री, 47.3 डिग्री और 47.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। सफदरजंग वेधशाला जहां के आंकड़ों को दिल्ली का मानक माना जाता है, वहां भी अधिकतम तापमान सामान्य से पांच डिग्री अधिक 45.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। यह इस साल अब तक का सबसे अधिक तापमान है।

राजधानी के आयानगर, पालम और लोधी रोड वेधशाला में तापमान में वृद्धि देखी गई और इन वेधशालाओं में अधिकतम तापमान क्रमश: 46.8 डिग्री, 46.4 डिग्री और 45.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। राष्ट्रीय राजधानी के सभी मौसम केंद्रों में लू दर्ज की गई। आईएमडी ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में सोमवार को आंधी चलने का अनुमान है। पंजाब में, मुक्तसर में अत्यधिक गर्म मौसम रहा, जहां दिन का तापमान 47.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

हरियाणा के हिसार में अधिकतम तापमान 47.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। सिरसा में अधिकतम तापमान 47.2 डिग्री जबकि रोहतक में अधिकतम 46.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। भिवानी में अधिकतम तापमान 46 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। अंबाला में अधिकतम तापमान 42.1 डिग्री सेल्सियस जबकि करनाल में अधिकतम तापमान 42.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। दोनों राज्यों की साझा राजधानी चंडीगढ़ में भी लोगों को भीषण गर्मी का सामना करना पड़ा जहां अधिकतम तापमान 43 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

पंजाब के बठिंडा में अधिकतम तापमान 46.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया जबकि अमृतसर में 46.1 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया। लुधियाना में अधिकतम तापमान 45.5 डिग्री जबकि पटियाला में अधिकतम तापमान 44.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। जालंधर और होशियारपुर में अधिकतम तापमान क्रमश: 46.2 डिग्री और 46.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मोगा में अधिकतम तापमान 46.1 डिग्री जबकि फिरोजपुर में अधिकतम तापमान 46.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।