मेघालय के मुख्यमंत्री मुकुल संगमा के खिलाफ अम्पाटीगिरि निर्वाचन क्षेत्र में एक ओर जहां लोकसभा सांसद कोन्राड संगमा के नेतृत्व वाली नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) ने उम्मीदवार नहीं उतारने का एलान किया है वहीं दूसरी तरफ एक अन्य क्षेत्रीय पार्टी यूनाइटेड डेमोक्रेटिक पार्टी ने निमर्सन संगमा को अपने उम्मीदवार के तौर पर उतारा है।

अम्पाटीगिरि निर्वाचन क्षेत्र में लगातार पांच बार जीतने वाले मुख्यमंत्री श्री संगमा इस बार दो विधानसभा सीटों से चुनाव लड़ेंगे। ये सीटें हैं गारो हिल्स के तुरा संसदीय क्षेत्र में अम्पाटीगिरि और सोंगसक। निमर्सन ने कल अपना नामांकन पत्र दाखिल किया जबकि उस सीट से भारतीय जनता पार्टी ने बोकुल हाजोंग को अपना उम्मीदवार बनाया है।

भाजपा ने श्री संगमा के खिलाफ सोंगसक निर्वाचन क्षेत्र में थॉमस मराक को अपना उम्मीदवार बनाया है।भाजपा ने 60 सदस्यीय विधानसभा की 45 सीटों के लिए उम्मीदवारों की कल सूची जारी की थी। इस सूची में जे ए लिंगदोह, ए एल हेक, जे एम मराक और के सी बोरो के नाम शामिल थे।

 

एनपीपी के आग्रह के बावजूद भाजपा ने प्रतिष्ठित दक्षिण तुरा सीट से स्थानीय गारो नेता बी संगमा को चुनाव मैदान में उतार दिया। भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष डेविड खार्साती ने कहा कि उम्मीदवारों का नाम तय करते समय उनकी जीत की संभावनाओं को ध्यान में रखा गया है।

उन्होंने टिकट वितरण के बाद पार्टी में अंदरुनी कलह शुरु होने की संभावनाओं को साफ नकारते हुए कहा कि केवल टिकट और सुविधाओं को ध्यान में रखकर पार्टी में शामिल कुछ नेताओं तथा पदाधिकारियों इस बीच एनपीपी के एक धड़े ने अगाथा संगमा के खिलाफ उम्मीदवार खड़़ा करने के भाजपा के फैसले पर नाराजगी व्यक्त की है।

पार्टी की नेता विनीता शर्मा ने हालांकि कहा,“हम दोस्ताना संघर्ष के लिए तैयार हैं लेकिन यह मैच फिक्सिंग नहीं होगा। दक्षिण तुरा से भाजपा उम्मीदवार बी ए संगमा ने कहा,“हमें दोस्ताना संघर्ष करना होगा। मैं पूरी गंभीरता के साथ लड़ूंगा।