इंग्लैंड और वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) ने आखिरकार पुरुष और महिला टीमों द्वारा अक्टूबर में पाकिस्तान का दौरा रद्द कर दिया है। यह 2005 के बाद पुरुषों की टीम की पहली पाकिस्तान यात्रा होती और यह पहली बार महिला टीम की दौरा होती, इससे पहले न्यूजीलैंड की पुरुष टीम ने सुरक्षा चिंताओं का हवाला देते हुए शुक्रवार को सफेद गेंद की सीरीज को रद्द करने का फैसला किया था।

इस टूर के रद्द होने के बाद वसीम जाफर ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट लिखा है। पूर्व भारतीय बल्लेबाज ने ट्वीट किया, पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के पास इंग्लिश क्रिकेट बोर्ड से नाराज होने की वाजिब वजह हैं। पाकिस्तान और वेस्टइंडीज ने कोविड काल में इंग्लैंड का दौरा तब किया था जब कोरोना वैक्सीन भी नहीं आई थी। इंग्लैंड का पाकिस्तान और वेस्टइंडीज दोनों को बहुत कुछ बकाया है। इतना कि कम से कम ईसीबी दौरा तो रद्द नहीं कर सकता था। क्रिकेट न होने पर कोई विजेता नहीं होता। सोशल मीडिया पर वसीम जाफर को यूजर्स अब पाकिस्तान का हिमायती बता रहे हैं। कह रहे हैं कि ये वही पाकिस्तान हैं जिसके इशारे पर मुंबई हमले हुए। अफगानिस्तान में तालिबान राज के पीछे भी पड़ोसी मुल्क को ही जिम्मेदार ठहराया जा रहा है।


बता दें कि ईसीबी ने बयान में कहा, ईसीबी की 2022 में पुरुषों के भविष्य के दौरे कार्यक्रम के हिस्से के रूप में पाकिस्तान का दौरा करने की एक लंबी प्रतिबद्धता है। इस साल की शुरुआत में, हम अक्टूबर में पाकिस्तान में दो अतिरिक्त टी20 विश्व कप अभ्यास खेल खेलने के लिए सहमत हुए, जिसमें डबल के साथ एक छोटा महिला दौरा शामिल था। ईसीबी बोर्ड ने इस सप्ताह के अंत में पाकिस्तान में इन अतिरिक्त इंग्लैंड महिला और पुरुषों के खेलों पर चर्चा करने के लिए बुलाया और हम पुष्टि कर सकते हैं कि बोर्ड ने अनिच्छा से अक्टूबर के दौरे को रद्द करने का फैसला किया है। इंग्लैंड की पुरुष और महिला टीमों को 14 और 15 अक्टूबर को रावलपिंडी में ट्वेंटी 20 मैच खेलने थे। जबकि पुरुष टीम संयुक्त अरब अमीरात में टी 20 विश्व कप के लिए उड़ान भरेगी, वहीं महिला टीम तीन एकदिवसीय मैचों के लिए वापस रहेगी।

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के अध्यक्ष रमिज राजा ने ईसीबी के पाकिस्तान की यात्रा नहीं करने के फैसले पर निराशा व्यक्त की। रमिज ने कहा, इंग्लैंड से निराश, अपनी प्रतिबद्धता से पीछे हटना और अपनी क्रिकेट बिरादरी के एक सदस्य को उस समय विफल करना, जब उसे इसकी सबसे ज्यादा जरूरत थी। पाक टीम के लिए दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टीम बनने का समय आ गया है। हम एक बार सर्वश्रेष्ठ बन गए तो टीमों की कतार लग जाएगी।