देश में इस साल ठंड फरवरी में भी कहर बरपा रही है। उत्‍तरी और मध्‍य हिस्‍से अब भी सर्दी की चपेट में हैं जबकि हिमालयी क्षेत्रों में रुक रुककर बर्फबारी का दौर जारी है। देश के कुछ इलाकों में बारिश की संभावना बनी हुई है। मध्य प्रदेश के अधिकांश भागों में सोमवार से तापमान बढ़ने से एक सप्ताह से जारी कड़ाके की ठंड से राहत मिलनी शुरू हो गयी है। आईएमडी के अनुसार, पड़ोसी राजस्थान में चक्रवाती हवाओं का प्रभाव बना हुआ हुआ है, जिसके चलते मध्यप्रदेश में सोमवार से तापमान में वृद्धि होने लगी है। इससे मध्य प्रदेश के अधिकांश भागों में कड़ाके की ठंड से राहत मिलनी शुरू हो गयी है। उन्होंने कहा कि पिछले 24 घंटे में (रविवार सुबह साढ़े आठ बजे से सोमवार सुबह साढ़े आठ बजे तक) प्रदेश में सबसे कम तापमान तीन डिग्री सेल्सियस मंडला एवं उमरिया में दर्ज किया गया। जानकारी के अनुसार, प्रदेश में बृहस्पतिवार एवं शुक्रवार को कुछ स्थानों पर बादल छाये रहने का पूर्वानुमान है और हल्की बारिश एवं ओले गिर सकते हैं।

मौसम विभाग ने आने वाले तीन से चार दिनों के लिए ओडिशा के कुछ जिलों में जबरदस्त शीतलहर चलने को लेकर चेतावनी जारी की है। इसके चलते राज्य सरकार ने जिलों के प्रशासन को लोगों की सहायता के मद्देनजर कदम उठाने के निर्देश दिए हैं। दिल्ली में सोमवार को न्यूनतम तापमान में वृद्धि दर्ज की गयी और यहां का न्यूनतम तापमान 5.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। जो सामान्य तापमान से तीन डिग्री कम है। मौसम विज्ञान विभाग के मुताबिक, रविवार सुबह दिल्ली में शीतलहर चली थी तथा न्यूनतम तापमान गिरकर 3.1 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया था। मैदानी इलाकों में ठंडी एवं शुष्क उत्तर-पश्चिमी हवाओं की वजह से मंगलवार, बृहस्पतिवार और शुक्रवार को भी यहां शीतलहर चली थी।

निजी मौसम पूर्वानुमान कम्पनी ‘स्काइमेट वेदर' ने 2021 में दक्षिण-पश्चिम मानसून के सामान्य रहने का अनुमान जताया है। वर्ष 2019 और 2020 में दक्षिण-पश्चिम मानसून में बारिश सामान्य से अधिक हुई थी। ला नीना, जो प्रशांत सागर के जल के शीतलन से जुड़ा है, भारतीय मानसून को प्रभावित करने वाले महत्वपूर्ण तत्वों में से एक है। स्काईमेट वेदर ने कहा है कि अभी प्रशांत महासागर में पर्याप्त ठंडक है और ला नीना की स्थितियां चरम पर हैं। समुद्र की सतह के तापमान (एसएसटी) के जल्द ही बढ़ने और ला नीना के जारी रहने की संभावना में गिरावट आएगी। उसने कहा कि इस साल मानसून सामान्य रह सकता है, जिसकी शुरुआत ठीक-ठाक और इसके खत्म होने तक इसमें बारिश के सामान्य से अधिक होने का अनुमान है।

पंजाब और हरियाणा में कड़ाके की ठंड के साथ ही सोमवार को अधिकतर स्थानों पर न्यूनतम तापमान सामान्य से कम दर्ज किया गया। मौसम विज्ञान विभाग के अधिकारियों ने बताया कि पंजाब के आदमपुर में न्यूनतम तापमान 2.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

मौसम विभाग के अनुसार, 3 और 4 फरवरी को हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्ली में है। वहीं स्काईमेट के अनुसार, इन दोनों दिन देश के कई इलाकों में भारी बारिश होगी। ऐसे में फरवरी में भी ठंड अभी जाती नजर नहीं आ रही है।