राजस्थान, हरियाणा, दिल्ली, पूर्वी एवं पश्चिमी उत्तर प्रदेश, गुजरात, मध्य महाराष्ट्र, विदर्भ, मराठवाड़ा, पश्चिम एवं पूर्वी मध्य प्रदेश, अरूणाचल प्रदेश, असम, मेघालय, मणिपुर और मिजोरम में मौसम का औसतन तापक्रम एक डिग्री सेल्सियस ज्यादा उग्र रहने की संभावना है। वर्ष 2016-17 के सर्द मौसम में एक डिग्री सेल्सियस का अंतर था। 1901 के उपरांत ये चौथा सबसे गर्म सर्दियों वाला मौसम रहा।

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार इस वर्ष दिसंबर, 2017 और फरवरी, 2018 के मध्य पिछले साल से अधिक ठंड पड़ने के आसार हैं। उत्तर भारत में सर्दी का प्रभाव अधिक रहेगा। 2018 में तापमान सामान्य अधिकतम और न्यूनत्तम से ज्यादा रहेगा। 

आगामी सप्ताह के दौरान मौसम में बदलाव होने की प्रबल संभावना है। मौसम विभाग की मानें तो 11 दिसम्बर से बारिश लगातार 2 दिन जारी रहने के आसार हैं। 9 व 10 दिसम्बर को दिन के समय आसमान में आंशिक बादल छाए रह सकते हैं। 11,12 व 14 दिसम्बर को गरज-चमक के साथ बारिश होने के आसार हैं।