चंडीगढ़। यूक्रेन-रूस युद्ध ने 25 लाख लोगों को शरणार्थी बना दिया है और यूक्रेन से लोग पड़ोसी मुल्कों में पलायन कर रहे हैं। वैश्विक गैर सरकारी संगठन यूनाइटेड सिख के अंतरराष्ट्रीय मानवीय सहायता के निदेशक गुरविंदर सिंह ने आज यहां जारी बयान में पोलैंड में अपने एक वालंटियर के हवाले से बताया है कि शरणार्थियों को राहत सेवा मुहैया कराने के लिए उन्होंने पोलैंड में मेडीका सीमा पर एक शिविर लगाया है।

यह भी पढ़ें- Sheetala Ashtami 2022: शीतला अष्टमी 25 मार्च को, जानें पूजन का शुभ मुहूर्त, शीतला माता की महिमा व व्रत महत्व

कड़ाके की ठंड में 17 से 18 घंटे तक इंतजार के कारण पिछले कुछ दिनों में कुछ बुजुर्ग महिलाओं तथा बच्चों की मौत हुई है और कई बच्चे बीमार हुए हैं। संस्था ने उक्रेन सीमा पर पोलैंड की तरफ शिविर लगाया है और वॉर जोन से बचकर आये शरणार्थियों को राहत सेवा मुहैया करा रही है। संस्था के अमेरिका, जर्मनी तथा ब्रिटेन से आये वालंटियर पका हुआ भोजन, पानी और सफाई किट मुहैया करा रहे हैं। 

यह भी पढ़ें- पंजाब में आप सरकार बनने से पहले बड़ा फैसला, सभी पूर्व मंत्रियों और पूर्व विधायकों की सुरक्षा वापस लेने के आदेश जारी

संस्था के बयान के अनुसार उनका फूड ट्रक 2000 शरणार्थियों को प्रति दिन भोजन मुहैया करा रहा है। ब्रिटेन के वालंटियरों की एक टीम पॉवर जनरेटर, जल पंप, कंबल, स्लीपिंग बैग, सैनेटरी पैड, टेंट, स्टोव, बर्तन, रेडियो कम्युनिकेशंस, गर्म कपड़े, जुराबें और ग्लव आदि ले आई। इसके लिए उन्होंने गुरुद्वारा, नेशनल सिक्ख म्युजियम और वर्ल्ड सिख पार्लियामेंट को सहायता के लिए धन्यवाद किया है। संस्था ने लोगों से राहत कार्य में मदद की अपील भी की है।