अफगानिस्तान के पंजशीर में तालिबान ने भले ही कब्जे का दावा कर दिया हो, मगर नॉर्दन एलायंस का कहना है कि जंग जारी है।  स्थानीय चैनल काबुल न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक, पंजशीर घाटी में अब कुछ अज्ञात सैन्य विमानों ने तालिबान के ठिकानों को निशाना बनाकर हवाई हमले किए हैं।  इन हमलों में तालिबान को हुए नुकसान को लेकर अभी तक कोई जानकारी नहीं मिली है। 

पंजशीर अफगानिस्तान का आखिरी प्रांत है, जिस पर तालिबान का अभी पूरी तरह से कब्जा नहीं कहा जा सकता।  हालांकि, तालिबान के प्रवक्ता जबीहउल्ला मुजाहिद ने सोमवार को बेशक ऐलान किया था कि अब पंजशीर भी तालिबान के कब्जे में हैं। मुजाहिद ने धमकी भी दी थी कि अब अगर किसी ने सरकार बनाने में दिक्कत पैदा की, तो उसके साथ पंजशीर की तरह ही निपटा जाएगा। 

सोशल मीडिया पर पंजशीर की कुछ तस्वीरें भी शेयर की गई हैं।  इसमें तालिबान के लड़ाके पंजशीर में गवर्नर ऑफिस के बाहर खड़े होकर तस्वीर भी खिंचवाते दिख रहे हैं।  एक अन्य फोटो में तालिबान का झंडा लहरा रहा है।  हालांकि,नेशनल रेजिस्टेंस फोर्स यानी नॉर्दन एलायंस ने तालिबान के दावों को खारिज कर दिया है।  नॉर्दन अलायंस ने ट्विटर के जरिए बयान जारी करके बताया कि पंजशीर में अभी जंग जारी है।  NRF के लड़ाके हर कोने में मौजूद हैं। 

इससे पहले पाकिस्तानी वायुसेना की ओर से पंजशीर में नॉर्दन एलायंस के ठिकानों को निशाना बनाकर ड्रोन हमले किए गए थे।  इस ड्रोन हमले में पंजशीर के प्रवक्ता फहीम दश्ती की मौत हो गई थी।  फहीम अहमद मसूद के काफी करीबी थे. पाकिस्तान एयरफोर्स की ओर से छोड़े गए ड्रोन हमलों में मसूद परिवार से जुड़े कमांडर भी मारे गए थे।