त्रिपुरा पश्चिम संसदीय क्षेत्र के 168 मतदान केंद्रों पर रविवार को कड़ी सुरक्षा के बीच पुनर्मतदान शुरू हो गया। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। मतदान सुबह सात बजे शुरू हुआ और शाम पांच बजे सम्पन्न होगा। इस संसदीय क्षेत्र में 69,328 महिलाओं समेत कुल 1,41,251 मतदाता हैं जो कुल 13 मतदाताओं के भविष्य का फैसला करेंगे। इनमें एक महिला उम्मीदवार भी शामिल है। 

पहले चरण के तहत 11 अप्रैल को इस संसदीय सीट के 26 विधानसभा क्षेत्रों में 168 मतदान केंद्रों पर चुनाव के दौरान गड़बड़ियों की शिकायतें मिलने के बाद चुनाव आयोग ने यहां पुनर्मतदान कराने का निर्णय लिया था। स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए केंद्रीय अर्धसैनिक बल और त्रिपुरा राज्य रायफल्स के रिकॉर्ड 7,000 सुरक्षा कर्मियों को तैनात किया गया है।

वहीं पश्चिम बंगाल में छठे चरण की वोटिंग के दौरान भी हिंसा की खबरें हैं। घाटल से बीजेपी कैंडिडेट भारती घोष पर टीएमसी समर्थकों ने हमला कर दिया वहीं, बंगाल के बीजेपी चीफ दिलीप घोष पर भी हमले की कोशिश की गई। भारती की गाड़ी तोड़ दी गई थी और उन्हें एक मतदान केंद्र पर जाने नहीं दिया जा रहा था। उधर, वोटिंग से पहले शनिवार रात बीजेपी और टीएमसी के एक-एक कार्यकता का शव मिला है। बता दें कि रविवार को छठे चरण का मतदान हो रहा है। इसमें कुल 59 सीटों पर चुनाव है, जिसमें पश्चिम बंगाल की भी 8 सीट शामिल हैं।