रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध लगातार जारी है और राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने यूक्रेन फतह करने के लिए नया मास्टर प्लान बनाया है। खबर हे कि पुतिन ने यूक्रेन में जारी युद्ध में सेना का नेतृत्व करने की जिम्मेदारी जिस नए जनरल को सौंपी है उनका नाम General Aleksandr Dvornikov) है। अब खबर है कि पुतिन की सेना ने कीव समेत यूक्रेन के प्रमुख इलाकों पर कब्जा करने का अभियान तेज कर दिया है।

यह भी पढ़ें : सबसे पुराने कृषि उत्सव 'पोंग्टु' पर राज्यपाल ने दी अरुणाचल को बधाई, दिया ये संदेश

आपको बता दें कि कमांडर ड्वोर्निकोव रूस के दक्षिणी सैन्य जोन के कमांडर रहे हैं। उम्मीद जताई जा रही है कि ड्वोर्निकोव यूक्रेन में कई मोर्चों के बजाय सिर्फ डोनबास क्षेत्र पर फोकस करेंगे। 60 साल के ड्वोर्निकोव ने पुतिन के आदेश पर 2015 में सीरिया में रूसी टास्क फोर्स की कमान संभाली थी। वो सीरिया में रूस के मिलिट्री ऑपरेशन के पहले कमांडर थे, जब पुतिन ने सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल-असद की सरकार का समर्थन करने के लिए सितंबर 2015 में सेना भेजी थी।

यह भी पढ़ें : कर्नाटक और मणिपुर के बाद कांग्रेस का उत्तराखंड में बड़ा फेरबदल, इस नेता को बनाया अध्यक्ष

सीरिया में इस रूसी जनरल ड्वोर्निकोव को उनकी क्रूर रणनीति के कारण 'सीरिया का कसाई' करार दिया गया था। उस दौरान रूस की तरफ से विद्रोहियों को कुचलने के लिए उन्होंने जो एक्शन लिया उसके बारे में सुनकर लोगों की रूह कांप गई थी। ड्वोर्निकोव का जन्म 1961 में हुआ था। उन्होंने 1982 में तत्कालीन सोवियत संघ के शासन में अपने मिलिट्री करियर की शुरुआत की थी। ड्वोर्निकोव को 2016 में 'रूस के नायक' की उपाधि से सम्मानित किया गया था। क्रीमिया पर कब्जे के दौरान भी इस जनरल की अहम भूमिका रही थी। जून 2020 में राष्ट्रपति पुतिन उन्हें सेना में जनरल के पद पर प्रमोशन दिया था।