लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सैनिकों से साथ हुई हिंसक झड़प को लेकर केंद्रीय मंत्री और पूर्व सेना प्रमुख वीके सिंह ने बड़़ा दावा किया है। सिंह का दावा है कि गलवान घाटी में भारत-चीन सैनिकों के बीच एक रहस्यमय आग की वजह से हिंसक झड़़प हुई। ये आग चीनी सैनिकों के टेंट में लग गई थी।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि अचानक लगी आग से भारतीय सैनिक भड़क उठे थे। हालांकि आग लगने के कारणों का पता नहीं चल पाया है। सिंह का यह दावा उस बात के बिल्कुल उलट है, जिसमें कहा गया था कि चीनी सैनिकों के पीछे न हटने की बात पर भारतीय सैनिकों ने टेंट उखाडकऱ फेंका था। 

सिंह ने कहा कि 15 जून की रात जब कमांडिंग ऑफिसर संतोष बाबू पेट्रोल पॉइंट 14 पहुंचे तो पाया कि चीन ने वहां से तंबू नहीं हटाया था। फिर बातचीत में दोनों के पीछे जाने की बात हुई तो संतोष बाबू ने चीनी सैनिकों से उसे हटाने को कहा। चीनी जवान तंबू हटा रहे थे कि अचानक की उसमें आग लग गई। जिसके बाद झड़प हुई।