दुनिया को कोरोना महामारी में धकेलने वाले चीन अभी भी अपने हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। कोरोना वायरस को पैदा कर करोड़ों लोगों की जान ले चुका चीन अब लैब में एक नया वायरस बना रहा है। वुहान लैब में म्यूटेटेड जीन के साथ पैदा होने वाले बंदरों पर मैन मेड वायरस तैयार कर रहा है। इसका खुलासा लेखक और पत्रकार जैस्पर बेकर ने किया। जैस्पर बेकर का दावा है कि बीजिंग जीन्स में बदलाव कर नए जानवर बना रहा है। ये न सिर्फ जानवरों के लिए खतरनाक है बल्कि इसका बुरा असर इंसानों पर भी पड़ सकता है।

चीन में उन सभी तरह के प्रयोगों को अनुमति होती है, जिनकी दुनिया में कहीं और मंजूरी नहीं मिलती। बेकर ने दावा किया है कि वुहान लैब के अंदर कई खतरनाक जानवर बनाए जा रहे है। ये जेनेटिकली इंजीनियर्ड जानवर है, जिसमें बन्दर और खरगोश शामिल है। इन्हें इंजेक्शन लगाकर इनके जीन्स में बदलाव किया जा रहा है। इससे कुछ ऐसे वायरस पैदा होते है, जो इंसानों को खत्म तक कर सकते है। चीन को इन सब खतरों का पता है, बावजूद इसके वो अपने लैब्स में इन रिसर्च को जारी रख रहा है।

आपको बता दें कि लेखक और पत्रकार जैस्पर बेकर ने बीते 20 साल से चीन की वुहान लैब को कवर कर रहे है। इस दौरान उन्होंने पाया कि चीन के लैब में खतरनाक वायरस बनाए जाते है। द मेल को दिए इंटरव्यू में बेकर ने बताया कि चीनी वैज्ञानिक लैब में खतरनाक वायरस बना रहे है, क्योंकि ये वायरस तबाही मचा सकता है इसलिए इस तरह के प्रयोग दूसरे देशों में बैन है, लेकिन चीन इन को प्रयोगों को और बढ़ावा देता है। पीपुल्स लिबरेशन आर्मी इन रिसर्च को कवर करते है। इसमें ऐसे हथियार बनाए जा रहे है जिसका कोई इलाज नहीं है। चीन बंदरों पर रिसर्च कर रहा है और उन्हें कई तरह के इंजेक्शन दे रहा, क्योंकि बंदरों को जीन इंसान के जीन से मिलता-जुलता है।