बांग्लादेश (bangladesh) में पिछले सप्ताह कुमिला शहर के एक दुर्गा पूजा मंडप में कुरान पाये जाने के बाद भड़के सांप्रदायिक हिंसा (Communal Violence in Bangladesh) मामले में पुलिस ने एक व्यक्ति की पहचान की है। सीसीटीवी फुटेज की पड़ताल के बाद पुलिस ने इकबाल हुसैन (30) नामक व्यक्ति की पहचान की है जो कुमिला का निवासी है और जिसने घटना को अंजाम दिया। हालांकि पुलिस ने उसे अभी तक गिरफ्तार नहीं किया है। 

सीसीटीवी फुटेज (CCTV Footage) में यह देखा गया कि एक व्यक्ति कुरान हाथ में लिये मध्य रात्रि के बाद मंदिर की ओर जा रहा है तथा कुछ ही देर बाद वह हनुमान का गदा लिये वह वापस लौटते दिखाई दे रहा है। मंडप का सीसीटीवी काम नहीं कर रहा था जबकि जांच पड़ताल के लिए पास के निवास से सीसीटीवी फुटेज को खंगाला गया तो वास्तविकता सामने आयी। सोशल मीडिया पर भगवान हनुमान की गोद में रखी कुरान की एक फोटो शेयर की गई जो वायरल हो गई। 

इसके बाद, भीड़ ने कुमिला में अल्पसंख्यक हिंदू समुदाय (Attack On Hindus) के मंदिरों, घरों और व्यापारिक प्रतिष्ठानों पर हमला किया। इसके बाद 13-16 अक्टूबर के बीच अगले कुछ दिनों में नोआखली, रंगपुर और बंगलादेश के कई अन्य स्थानों से इसी तरह की घटनाएं सामने आईं। पुलिस ने 13 अक्टूबर के बाद मंदिरों में तोड़ फोड़ (Attack On Hindus) तथा हिंदुओं के घरों तथा व्यावसायिक प्रतिष्ठान को तोड़े जाने के मामलों में 72 मामले दर्ज किये हैं। साथ ही सोशल मीडिया पर दुर्गा मंडप के विवादास्पद चित्र को सोशल मीडिया पर पोस्ट करने वाले व्यक्ति समेत 450 लोगों को गिरफ्तार किया है।