पाटण. गुजरात के पाटण जिले के हारीज गांव में ग्रामीणों ने एक नाबालिग के साथ तालिबान जैसा बर्ताव किया. ग्रामीणों ने पहले नाबालिग के चेहरे पर कालिख (The villagers first got the soot granddaughter and head shaved on the face of the minor)  पोती और सिर मुंडवा दिया. इसके बाद उसके सिर पर कंडे की आग से भरा मटका रखकर उसे गांव में घुमाया गया. 14 साल की लड़की पर कथित तौर पर (A 14-year-old girl is accused of allegedly eloping with her boyfriend) अपने प्रेमी के साथ भागने का आरोप है.

घटना बीते मंगलवार (9 नवंबर) की है. सोशल मीडिया पर इसका वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने 35 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है. अब तक 22 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है.

पुलिस अधीक्षक (पाटन) अक्षयराज मकवाणा ने बताया कि वादी जनजाति के लोगों ने लड़की को अपने प्रेमी के साथ भागने पर सजा दी और उसका सिर मुंडवा दिया. उसके चेहरे पर कालिख पोत दी. इसके बाद उसके सिर पर कंडे की आग से भरा मटका रखकर उसे गांव भर में घुमाया गया. वादी जनजाति के लोगों का दावा है कि लड़की ने अपनी हरकत से उनकी जनजाति को बदनाम किया है.

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो गया है, जिसमें लोग उसे शुद्ध करने के रिवाज के तौर पर उसका सिर मुंडवाते और उसके चेहरे पर कालिख पोतते नजर आ रहे हैं. लड़की रोती-चिल्लाती दिख रही है. ग्रामीणों ने लड़की और उसके प्रेमी को दंड के तौर पर गांव में घुमाया भी. इसके बाद खुद लड़की के परिवार ने ही उनकी जनजाति के एक लड़के से उसकी सगाई करवा दी.

एसपी ने बताया कि जिस व्यक्ति के साथ लड़की भागी थी, उसके विरुद्ध रेप एवं बाल यौन अपराधों से बच्चों का संरक्षण अधिनियम की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है. उसमें इस व्यक्ति पर आरोप है कि वह लड़की को अगवा कर खेड़ा जिले के डाकोर ले गया और उसके साथ बलात्कार किया. पुलिस के अनुसार, शुक्रवार को एक अन्य प्राथमिकी दर्ज की गई और आरोपियों पर आईपीसी, किशोर न्याय अधिनियम तथा बाल विवाह निषेध अधिनियम की संबंधित धाराएं लगाई गई हैं.