गुजरात में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के मामलों और इनके चलते रात्रि कर्फ्यू का समय बढ़ाए जाने, आज और कल सभी मॉल तथा मल्टीप्लेक्स बंद किए जाने, महानगरों में स्कूलों को बंद रखने जैसे कदमों से लोगों में राज्य में दोबारा लॉकडाउन होने की गहराती आशंका के बीच मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने आज कहा कि लॉकडाउन अथवा दिन का कर्फ्यू नहीं लगाया जाएगा।  

रूपाणी ने आज पत्रकारों से कहा कि लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है। मॉल आदि में जुटने वाली भीड़ को देखते हुए यह कदम उठाए गए हैं। लोगों को सावधानी बरतनी चाहिए। राज्य सरकार मामले की रोज समीक्षा कर रही है। राज्य में बाहर से आने वाले लोगों की स्क्रीनिंग की जा रही है। सरकार और सत्तारूढ़ भाजपा ने एहतियाती तौर पर अपने सभी कार्यक्रम रद्द कर दिए हैं। राज्य सरकार ने रात्रि कर्फ्यू का समय रात नौ से सुबह छह बजे तक कर दिया है। आज और कल सब्जी विक्रेताओं, किराना दुकानदारों और ऐसे अन्य तथाकथित सुपर स्प्रेडरों की जांच का अभियान भी महानगरों में चलाया जा रहा है।

ज्ञातव्य है कि गुजरात में पिछले माह के अंत में हुए स्थानीय निकाय चुनाव और यहां अहमदाबाद में भारत इंगलैंड शृंखला के क्रिकेट मैचों में भारी भीड़ जुटने के बाद से राज्य में कोरोना के नए मामलों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। पिछले 24 घंटे में राज्य में 1400 से अधिक नए मामले आए हैं जिनमे करीब 350 अकेले अहमदाबाद के हैं। चार मौतें भी दर्ज की गयी हैं। अब तक कम मौतों की संख्या 4400 के पार हो गयी है। सक्रिय मामले भी बढ़कर 6100 से अधिक हो गए हैं जिनमे 67 जीवन रक्षक प्रणाली यानी वेंटिलेटर पर हैं। ज्ञातव्य है कि कोरोना को लेकर पिछले साल राज्य सरकार की ओर से अचानक कर्फ्यू लगने और पूर्ण लॉकडाउन जैसे कदमों से लोगों को खासी परेशानी हुई थी। जीवन यापन के लिए बेहद चीजों के लिए भी लोगों को तरसना पड़ा था। उस दौरान भी राज्य में हुए विधानसभा उपचुनावों में नेताओं ने खूब रैलियां की जिनमे भारी भीड़ जुटी। इस बार भी स्थानीय चुनाव में ऐसा ही हुआ। लोगों में ऐसे दोहरे बर्ताव को लेकर खासी नाराजगी भी देखी जा रही है।