वाराणसी नगर निगम प्रशासन अूब यूएसए और ब्राजील की तर्ज पर क्लासरूम ऑन व्हील संचालित करने की तैयारी में है। इसके लिए एक बैंक के सीएसआर फंड के सहयोग से नगर आयुक्त गौरांग राठी व्यक्तिगत रूचि लेकर एक कबाड़ बस को क्लासरूम में तब्दील करवा रहे हैं। बता दें कि इसमें कुल 4.30 लाख रुपये खर्च हो रहा है।

नगर आयुक्त के मुताबिक फिलहाल आंध्रप्रदेश और अरुणाचल प्रदेश में इस तरह का प्रयोग किया गया है जो सफल रहा है। उन्होंने बताया कि इसके लिए यूपीएसआरटीसी से कबाड़ लेकर क्लासरूम डिजाइन किया जा रहा है। यह क्लासरूम मलिन बस्तियों के आसपास चलाया जाएगा। इसके लिए सुबह की पाली में बच्चों को और शाम की पाली में पौढ़ लोगों को साक्षर बनाया जाएगा। आपको बता दें कि इसमें 2 शिक्षक सहित 32 लोग बैठ सकेंगे।


इतना ही नहीं बस को सुंदर और आकर्षक बनाने के लिए खूबसूरत पेंटिंग की गई है जिससे बस देखने में सुंदर लगे। साथ ही बस में म्यूजिक सिस्टम और माइक्रोफोन लगाया गया है जिससे बच्चों को अत्याधुनिक तरीके से पढ़ाई के प्रति लगाव को विकसित किया जा सके। बस में लाइटिंग के लिए 320 वाट के सोलर पैनल भी लगाया गया है जिससे प्रकाश की कोई दिक्कत न हो।

अब हम twitter पर भी उपलब्ध हैं। ताजा एवं बेहतरीन खबरों के लिए Follow करें हमारा पेज : https://twitter.com/dailynews360