प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को एक अहम घोषणा की।  राष्ट्र के नाम संबोधन में उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने सभी देशवासियों को मुफ्त वैक्सीन लगाने का फैसला किया है।  यह ऐलान होते ही विपक्ष सक्रिय हो गया।  उसने इसका पूरा श्रेय केंद्र सरकार को अपने खाते में डालने से रोकने की कोशिश की। 

इंडियन यूथ कांग्रेस के नेशनल प्रेसीडेंट श्रीनिवास बीवी ने ट्वीट करते हुए लिखा, पीएम को दूरदर्शी राहुल गांधी की सलाह मानने में एक महीने से ज्यादा समय लग गया।  उन्होंने राहुल गांधी का पुराना ट्वीट साझा करते हुए अपनी बात कही।  29 अप्रैल 2021 को किए गए इस ट्वीट में राहुल गांधी ने सभी को मुफ्त वैक्सीन देने की बात कही है।  श्रीनिवास ने उनकी इस बात को हाईलाइट किया है। 

 

वहीं, कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने दावा किया कि सरकार ने यह फैसला दबाव में लिया है।  उन्होंने कहा कि जब राज्य की सरकारों ने केंद्र पर दबाव डालकर मुफ्त में वैक्सीन देने की बात कही और सुप्रीम कोर्ट ने दखल दिया, उसके बाद ही प्रधानमंत्री को सभी लोगों के लिए वैक्सीन मुफ्त करने का फैसला करना पड़ा।  इससे साफ होता है कि पीएम ने यह फैसला दबाव में लिया है। 

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यह आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री ने देश में पहले के टीकाकरण के कार्यक्रमों के बारे में टिप्पणी करके अतीत की चुनी हुई सरकारों और वैज्ञानिकों का अपमान किया है।  उन्होंने कहा, मनमोहन सिंह, सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने पिछले कई महीनों में बार-बार यह मांग रखी कि 18 साल से अधिक उम्र के लोगों को मुफ्त टीका लगना चाहिए, लेकिन मोदी सरकार ने इससे इनकार कर दिया।  फिर सुप्रीम कोर्ट ने मोदी जी और उनकी सरकार को कटघरे में खड़ा किया। 

कांग्रेस महासचिव ने कहा, फिलहाल खुशी है कि हर नागरिक को मुफ्त टीका मुहैया कराने की मांग सरकार ने आंशिक रूप से मान ली है।  प्रधानमंत्री आज भी अपने मुंह मियां मिट्ठू।  देर आए, लेकिन पूरी तरह दुरुस्त नहीं आए।  उन्होंने सवाल किया, छह महीने में टीकाकरण की तीन बार नीतियां बदलकर लाखों लोगों के जीवन को खतरे में डालने के लिए मोदी जी को जिम्मेदार क्यों नहीं ठहराया जाए?

भाजपा का पलटवार

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि वैक्सीन सभी के लिए मुफ्त हो गई है. रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि वैक्सीन लोगों को मुफ्त में नहीं मिलेगी. वे भ्रम फैला रहे हैं. कांग्रेस का मकसद झूठ और भ्रम की राजनीति करना है. उनकी राजनीति की दुकान बंद हो रही है. यह समय राजनीति करने का नहीं भारत के साथ खड़े होने का है.

केंद्र सरकार चाहती तो पहले ही ऐसा कर सकती थी- सिसोदिया

 

दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा कि हम माननीय सुप्रीम कोर्ट का आभार व्यक्त करते हैं कि उनके दखल के बाद देशभर में हर उम्र हर वर्ग के लोगों को मुफ्त वैक्सीन उपलब्ध होगी. केंद्र सरकार चाहती तो बहुत पहले यह कर सकती थी. लेकिन, केंद्र की नीतियों के चलते न राज्य वैक्सीन खरीद पा रहे थे और न केंद्र सरकार दे रही थी.