अब चारधाम यात्रा को कोई नहीं रोक सकेगा क्योंकि हाईकोर्ट ने बड़ा फैसला दिया है। उत्तराखंड हाईकोर्ट ने चारधाम यात्रा पर लगी रोक को हटाते हुए ये फैसला दिया है। कोर्ट ने यात्रा शुरू करने को लेकर राज्य सरकार द्वारा दायर शपथपत्र पर सुनवाई करते हुए ये फैसला दिया है।

खुद की लगाई रोक हटाई
हाईकोर्ट ने सुनवाई के बाद अपने 28 जून के फैसले, जिसमें यात्रा पर रोक लगाई गई थी, उसे हटा दिया। कोर्ट ने सरकार को कोविड नियमों का पालन करते हुए प्रतिबंध के साथ चारधाम यात्रा शुरू करने के आदेश दे दिए हैं।

इतने यात्री जा सकेंगे
मुख्य न्यायाधीश आरएस चौहान और न्यायमूर्ति आलोक कुमार वर्मा की खंडपीठ ने बद्रीनाथ धाम में 1200 भक्त या यात्रियों, केदारनाथ धाम में 800, गंगोत्री में 600 और यमनोत्री धाम में कुल 400 यात्रियों के जाने की इजाजत दी है। इसके अलावा कोर्ट ने हर भक्त यात्री की कोविड निगेटिव रिपोर्ट और दो वैक्सीन का सर्टिफिकेट ले जाने को भी कहा है।