उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने राज्यपाल बेबीरानी मौर्य से मुलकात के बाद अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। बुधवार को नए मुख्यमंत्री के नाम का ऐलान किया जाएगा। बता दें कि भारतीय जनता पार्टी ने पहले दिल्ली से दो पर्यवेक्षकों को राज्य में भेजा था। उसके बाद सीएम ने खुद दिल्ली जाकर पार्टी के सीनियर नेताओं से मुलाकात की थी। लंबे घटनाक्रम के बाद मंगलवार को उत्तराखंड के सीएम रावत के इस्तीफे के बाद राज्य के राजनीतिक संकट का पटाक्षेप हो गया।

वहीं एक प्रेस कांफ्रेंस में रावत ने कहा कि मैंने एक छोटे से गांव में जन्म लिया। पिताजी पूर्व सैनिक थे। कभी कल्पना भी नहीं की थी कि पार्टी इतना बड़ा पद देगी, लेकिन यह बीजेपी में ही संभव था कि मुझे यह सम्मान दिया। पार्टी ने विचार किया और सामूहिक रूप से यह निर्णय लिया कि अब मुझे किसी और को यह मौका देना चाहिए। 4 साल में 9 दिन कम रह गए। प्रदेश वासियों का धन्यवाद करना चाहता हूं। उन्होंने कहा कि बीजेपी में जो भी फैसले होते हैं, वह सामूहिक निर्णय से होते हैं। कल पार्टी मुख्यालय पर 10 बजे पार्टी विधानमंडल दल की बैठक है। सभी विधायक अगला मुख्यमंत्री तय करेंगे।