उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने एक कार्यक्रम में फटी जींस पहनने वाली महिलाओं से बच्चों को संस्कारवान बनाने की अपेक्षा सम्बन्धी वक्तव्य से नाराज कांग्रेस ने गुरुवार को राज्य के लगभग सभी बड़े नगरों और उपनगरों में प्रदर्शन किया और मुख्यमंत्री के पुतले फूंके और साथ ही उनसे महिलाओं से माफी मांगने की भी मांग की। 

हरिद्वार में महिला कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष सरिता आर्य के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने भगत सिंह चौक पर मुख्यमंत्री तीरथ का पुतला दहन किया। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी एक तरफ, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा देती है। दूसरी तरफ महिलाओं के प्रति ऐसी घृणित सोच रखती है। कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री से बयान पर उनसे माफी मांगने की मांग की। देहरादून में एसले हॉल पर भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन (एनएसयूआई) और महिला कांग्रेस ने संयुक्त रूप से तीरथ का पुतला फूंका। 

महिला महानगर अध्यक्ष कमलेश रमन ने कहा कि महिलाओं के जींस पहनने पर मुख्यमंत्री ने जो अभद्र टिप्पणी की है, उसके लिए उन्हें माफी मांगनी चाहिए। उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड महिलाओं की देन है। उनके बलिदान को भुलाया नहीं जा सकता। श्रीमती रमन ने कहा कि ऐसे नेता जो महिलाओं के वस्त्रों से उनके चरित्र का आंकलन करते हैं, उन्हें अपने पद से इस्तीफा देना चाहिए। उन्होंने कहा कि सत्ता के नशे में महिलाओं का अपमान बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। चमोली, श्रीनगर, रुद्रप्रयाग, मसूरी, पौड़ी गढ़वाल, अल्मोड़ा, पिथौरागढ़, नैनीताल, रामनगर, अल्मोड़ा, बागेश्वर, कोटद्वार, टिहरी आदि में भी युवा, छात्र और महिला कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री का पुतला फूंका। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने सोशल मीडिया पर जारी अपने बयान में कहा कि हमारे नए मुख्यमंत्री महिलाओं की फटी जींस पहनने पर या कटी हुई जींस पहनने पर बहुत खफा हैं। मुख्यमंत्री जी ये नया जमाना है, आपको तो मोदी जी, राम नजर आते हैं, कृष्ण नजर आते हैं और अब आप हमारी बेटियों की जींस पहनने पर भी कमेंट करने लग गए हैं।