उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के लुलु मॉल में नमाज पढ़ने को लेकर हंगामा मचा हुआ है। आज हिन्दू महासभा ने मॉल में सुंदर कांड का पाठ करने का ऐलान किया था।। इसके बाद हड़कंप मच गया। अखिल भारत हिंदू महासभा के राष्ट्रीय प्रवक्ता शिशिर चतुर्वेदी के घर पर पुलिस फोर्स के साथ खुद लुलु मॉल के जीएम समीर वर्मा पहुंचे। उनके हाथ में कर्मचारियों की लिस्ट थी। लुलु मॉल के जीएम समीर वर्मा और पुलिस अधिकारियों के मान-मनौव्वल के बाद सुंदरकांड पाठ का फैसला टाल दिया गया है। अखिल भारत हिंदू महासभा ने सुंदरकांड का प्रोग्राम तब तक के लिए रोक दिया, जब तक नमाज पढ़ने वालों की जांच कर कार्यवाही न हो जाती है। इसके लिए एक हफ्ते का समय दिया गया है।

यह भी पढ़ें : असम में कछार जिला प्रशासन ने मास्क पहनना किया अनिवार्य, जारी किए दिशानिर्देश

अखिल भारत हिंदू महासभा के राष्ट्रीय प्रवक्ता शिशिर चतुर्वेदी ने कहा कि लुलु माल के जीएम समीर वर्मा ने प्रोग्राम स्थगित करने को कहा, जिनके साथ लखनऊ पुलिस के अधिकारी भी मौजूद थे, 80 और 20 फीसदी के सवाल पर लुलु मॉल के जीएम लिस्ट लेकर पहुंचे थे, हम लिस्ट से संतुष्ट नहीं हैं और हमने लिस्ट की जांच करने की मांग की है। इससे पहले अखिल भारत हिंदू महासभा के प्रवक्ता शिशिर चतुर्वेदी ने नमाज का एक और नया वीडियो जारी किया। नमाज का वीडियो जारी करते हुए कहा हिंदू महासभा के प्रवक्ता शिशिर चतुर्वेदी कि लुलु मॉल नहीं लुलु मस्जिद है, यहां पर जमीन खरीद कर अलग तरीके का एजेंडा चलाया जा रहा है, उन्होंने प्रशासन से कार्रवाई करने की अपील की है।

इससे पहले नमाज का वीडियो आने के बाद मॉल के PRO ने FIR दर्ज कराई है। धारा 153A, 295A, 341 समेत कई अन्य धाराओं के तहत मॉल के अंदर नमाज अदा करने वालों पर केस दर्ज कराया गया है। बताया जा रहा है कि ये ना तो मॉल कर्मचारी हैं ना ही उनका मॉल से कोई संबंध है। लिहाजा अज्ञात युवकों पर एफआईआर दर्ज की गई है। रविवार यानी 10 जुलाई को लुलु मॉल का उद्घाटन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किया था। इसके बाद मंगलवार यानी 12 जुलाई को एक वीडियो सामने आया है, जिसमें लुलु मॉल के कैम्पस में कुछ लोग नमाज पढ़ते दिखाई दिए। इस वीडियो के वायरल होने पर अखिल भारत हिंदू महासभा ने कड़ी आपत्ति जताई थी। 

हिंदू महासभा के राष्ट्रीय प्रवक्ता शिशिर चतुर्वेदी ने कहा था, 'लुलु मॉल में फर्श पर लोगों ने बैठकर नमाज पढ़ी, इस वीडियो से यह सिद्ध हो गया कि लुलु मॉल में सरकार के आदेशों का उल्लंघन हुआ क्योंकि सरकार शुरुआत से ही सार्वजनिक स्थानों पर नमाज ना पढ़ने की हिदायत दे रही है।' नमाज को लेकर विवाद बढ़ा तो लुलु मॉल प्रबंधन सामने आया और उसने नमाज पढ़ने वालों पर केस दर्ज करा दिया। इसके बाद शुक्रवार यानी 15 जुलाई को अखिल भारतीय हिंदू महासभा ने एक और वीडियो जारी करते हुए लुलु मॉल के अंदर नमाज पढ़ने का दावा किया। इस वीडियो के बाद हिंदू महासभा ने सुंदरकांड पाठ करने का ऐलान किया है।

यह भी पढ़ें : उल्फा-आई के समर्थन में 19 साल की लड़की ने किया फेसबुक पोस्ट, 18 मई से जेल में, रिहाई की मांग उठी

गौरतलब है कि लुलु मॉल लखनऊ का सबसे बड़ा मॉल है, जो सुशांत गोल्फ सिटी में बना है। यह मॉल 2।2 मिलियन वर्ग फीट में बनाया गया है। यहां सबसे खास लुलु हाइपर मार्केट है। इसके साथ कई ब्रांड के शोरूम भी खोले गए हैं। मॉल में 15 रेस्टोरेंट और कैफे हैं। 25 ब्रांड आउटलेट के साथ फूड कोर्ट भी है, जिसमें 1600 लोग एक साथ बैठ सकते हैं। लुलु ग्रुप की वेबसाइट के मुताबिक कंपनी के एमडी का नाम एम ए युसुफ अली है। ग्रुप का सालाना टर्नओवर 8 बिलियन अमेरिकी डॉलर का है। इस ग्रुप का कारोबार अरब देशों खासतौर पर संयुक्त अरब अमीरात में काफी फैला हुआ है। इसका हेडक्वार्टर UAE की राजधानी अबू धाबी में है। समूह मध्य पूर्व, एशिया, अमेरिका और यूरोप में स्थित 22 देशों में काम करता है।