उन्नाव में दुष्कर्म पीड़िता की मां और कांग्रेस प्रत्याशी आशा सिंह उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में पूरी तरह से मात खा गईं हैं, क्योंकि दसवें दौर की मतगणना तक वह सिर्फ 438 वोट हासिल करने में सफल रहीं हैं।

ये भी पढ़ेंः चुनाव आयोग ने सबसे पहले इन 14 सीटों पर विजेता की घोषणा की और योगी आदित्यनाथ ने किया सूपड़ा साफ


विशेष रूप से उन्नाव दुष्कर्म का मामला उस घटना को संदर्भित करता है, जहां एक 17 वर्षीय लड़की के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया था और पूर्व भाजपा विधायक कुलदीप सेंगर को मामले में दोषी ठहराया गया था। चुनाव आयोग के रुझानों के अनुसार, भाजपा वर्तमान में उन्नाव विधानसभा क्षेत्र से आगे चल रही है।

ये भी पढ़ेंः योगी के तूफान के आगे बुरी तरह फेल हो गए असदुद्दीन ओवैसी, चुनावों में हुई सबसे करारी हार


भाजपा के पंकज गुप्ता को अब तक 42,021 वोट मिले हैं, जबकि समाजवादी पार्टी के अभिनव कुमार 30,612 वोटों के साथ पीछे चल रहे हैं। बताया जा रहा है कि कांग्रेस प्रत्याशी के वोटों की संख्या नोटा (किसी भी उम्मीदवार को वोट नहीं) से भी कम है।