उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के रूझान आना शुरु हो गए हैं। सुबह आठ बजे से मतगणना की प्रक्रिया शुरु हो चुकी है। वहीं रूझानों में बीजेपी की सरकार बन चुकी है। भाजपा यूपी में इस वक्त 210 सीटों पर आगे चल रही है। वहीं अखिलेश यादव की सपा 82 सीटों पर आगे चल रही है। कांग्रेस और बसपा दो-दो सीटों पर आगे हैं। 

 

ये भी पढ़ेंः यूपी की जनता ने आखिरकार किसका दिया साथ, बस थोड़ी देर में हो जाएगा साफ, सभी की धड़कनें बढ़ीं


बता दें कि वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव (UP Assembly Elections) में समाजवादी पार्टी और कांग्रेस ने साथ मिलकर चुनाव लड़ा था। इस बार समाजवादी पार्टी ने राष्‍ट्रीय लोकदल के साथ ही सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के साथ गठबंधन कर चुनाव मैदान में उतरी है। वहीं, मायावती (Mayawati) की बहुजन समाज पार्टी (BSP) भी इस बार अकेले ही चुनाव लड़ा है। चुनाव आयोग की ओर से इस संबंध में बताया गया है कि प्रदेश भर में मतगणना के लिए कुल 84 केंद्र बनाए गए हैं। इसमें आगरा में सबसे अधिक पांच, अमेठी, अम्बेडकरनगर, देवरिया, मेरठ और आजमगढ़ में 2-2 व बाकी जिलों में एक-एक मतगणना केंद्र बनाए गए हैं। 

ये भी पढ़ेंः मणिपुर भाजपा प्रमुख ने कहा : 40 से अधिक सीटें जीतेंगे, स्थिर सरकार बनाएंगे


मतगणना के लिए 403 प्रेक्षक तैनात किए गए हैं। बता दें कि सीएम योगी आदित्यनाथ और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के साथ ही कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा, सरकार छोड़ने वाले सुभासपा अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर और दलबदल करने वाले पूर्व मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य, दारासिंह चौहान और धर्मसिंह सैनी जैसे नेताओं की प्रतिष्ठा दांव पर है। चुनावी नतीजे उपमुख्यमंत्री और भाजपा के पिछड़े वर्ग के चेहरे केशवप्रसाद मौर्य के लिए भी इम्तिहान साबित होंगे।  इसे अलावा असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी AIMIM ने भी इस बार कई सीटों पर अपने उम्‍मीदवार उतारे हैं। ओवैसी की पार्टी ने खासकर पश्चिमी उत्‍तर प्रदेश में आने वाली सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारे हैं।