चीन दुनिया की अकेली महाशक्ति बनना चाहता है जिससे अब वो अमेरिका के लिए सबसे बड़ा खतरा बन चुका है। इस बात का खुलासा यूएसए की खुफिया जऐंसी एफबीआई के निदेशक क्रिस्टोफर रे ने किया है। उन्‍होंने कहा कि चीन किसी भी तरह से दुनिया की अकेली महाशक्ति बनना चाहता है। क्रिस्‍टोफर रे ने कहा कि चीन सरकार की जासूसी और सूचनाओं की चोरी अमेरिका के भविष्‍य के लिए अब तक का लंबी अवधि का सबसे बड़ा खतरा है।
एफबीआई निदेशक ने कहा कि चीन कई स्तरों पर अभियान चला रहा है। चीन की सरकार ने विदेशों में रहने वाले चीनी नागरिकों को निशाना बनाना शुरू किया है। यही नहीं उन्हें वापस लौटने पर मजबूर कर रहा है। साथ ही अमरीका के कोरोना वायरस शोध को कमजोर करने की कोशिश कर रहा है। क्रिस्टोफ़र रे ने कहा, 'यह सबसे बड़ा दांव है। चीन किसी भी तरह दुनिया की अकेली महाशक्ति बनने की कोशिश कर रहा है।'
उन्‍होंने गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि आर्थिक और राष्ट्रीय सुरक्षा को लेकर चीन जासूसी करता है जो अमेरिका के लिए बड़ा खतरा है। उन्होंने साथ ही कहा कि एफबीआई में मौजूदा 5000 सक्रिय काउंटर इंटेलिजेंस मामलों में से आधे चीन से जुड़े हैं। क्रिस्टोफर रे ने मंगलवार को एक कार्यक्रम में कहा, 'अमेरिका में वर्तमान में चल रहे लगभग 5,000 सक्रिय एफबीआई काउंटर इंटेलिजेंस मामलों में से लगभग आधे चीन से संबंधित हैं। अब तो हालत यह है कि एफबीआई हर 10 घंटे में चीन-संबंधी नया मामला देख रही है।'