दुनिया की दो महाशक्तियां रूस और अमेरिका अब एकसाथ मिलकर काम कर सकती है। अमेरिका ने रूस के साथ परमाणु हथियार एवं रोकथाम से संबंधित न्यू स्टार्ट समझौते को 5 वर्ष के लिए बढ़ाने के लिए कहा है। राष्ट्रपति जो बाइडन का लंबे समय से यह मानना है कि यह अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा के हित में होगा।

व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव जेन साकी ने कहा कि अमेरिका न्यू स्टार्ट समझौते में पांच साल का विस्तार चाहता है। राष्ट्रपति लंबे समय से यह मानते आए हैं कि यह समझौता अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा के हित में है।उन्होंने कहा कि ऐसे वक्त में इस विस्तार का और अधिक महत्व हो जाता है जब रूस के साथ अमेरिका के प्रतिकूल संबंध हैं। न्यू स्टार्ट समझौता अमेरिका और रूस के बीच अब कायम एकमात्र समझौता है। यह समझौता रूस के परमाणु बलों पर लगाम लगाने वाला और दोनों देशों के बीच रणनीतिक स्थिरता में महत्वपूर्ण रहा है।साकी ने कहा कि हमलोग अमेरिका के हित में रूस के साथ काम करेंगे और उसके दुस्साहसी एवं प्रतिकूल कार्रवाइयों पर उसे जिम्मेदार ठहराने के लिए भी काम करेंगे। प्रेस सचिव ने कहा कि राष्ट्रपति जो बाइडन खुफिया विभाग को सोलर विंड्स साइबर घुसपैठ, 2020 के चुनाव में रूसी दखल और अपने विपक्षी नेता एलेक्सी नवलनी के खिलाफ रासायनिक हथियारों के इस्तेमाल आदि मामलों की जांच का जिम्मा सौंप रहे हैं।पेंटागन के नए प्रवक्ता जॉन किर्बी ने कहा कि रूस के साथ इस संधि से अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा के हित बेहतर हुए हैं और न्यू स्टार्ट समझौता और इसमें विस्तार अमेरिकी लोगों की सुरक्षा से जुड़ा है।
उन्होंने कहा कि मुझे खुशी है कि राष्ट्रपति न्यू स्टार्ट समझौते में पांच साल का विस्तार चाहते हैंण्  यह रूस के साथ परमाणु हथियार एवं नियंत्रण से संबंधित हमारा मौजूदा एकमात्र द्विपक्षीय समझौता है।