नागरिकता कानून और एनआरसी के खिलाफ बिहार में आरएलएसपी प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा यात्रा की शुरूआत करेंगे। कुशवाहा चंपारण से यात्रा की शुरूआत करेंगे। वह लोगों को बताएंगे कि नागरिकता कानून और एआरसी से लोगों को क्या नुकसान है। पहले चरण में आज से शुरू होनेवाली इस जागरूकता यात्रा का नाम 'समझो समझाओ, देश बचाओ जागरूकता यात्रा' होगा।

पहले चरण में आज मोतिहारी से बेतिया, 28 दिसम्बर को सहरसा से पूर्णिया, 30 दिसम्बर को नवादा से गया, 4 जनवरी को अरवल से औरंगाबाद, 6 जनवरी को सासाराम से आरा और 8 जनवरी को सीतामढ़ी से मधुबनी तक जनजागरण यात्रा का आयोजन होगा। पार्टी की तरफ से हर दिन 8 से 10 और कुल 200 सभाएं आयोजित की जाएंगी। कुशवाहा पहले से ही इस कानून का विरोध कर रहें हैं। उनका कहना है कि नागरिकता कानून और एआरसी हिन्दू बनाम मुस्लिम नहीं है बल्कि पिछड़ा, अतिपिछड़ा और गरीब दलित किसान बीजेपी के निशाने पर हैं और गलत नीतियों के वजह से देश में बवाल मचा हुआ है।

इससे पहले लेफ्ट पार्टियों और आरजेडी ने नागरिकता कानून और एनआरसी का विरोध कर चुकी है। दोनों पार्टियों ने इसके खिलाफ बिहार बंद बुलाया था। 19 दिसंबर को लेफ्ट पार्टियों ने बिहार बंद बुलाया था।हालांकि इसमें आरजेडी नहीं शामिल हुई थी। आरजेडी ने अलग 21 दिसंबर को बिहार बंद बुलाया था।बिहार बंद के दौरान हुए हिंसा और असामाजिक तत्वों के द्वारा तोड़ फोड़ को लेकर पुलिस ने तेजस्वी यादव सहित 27 लोगों पर नामजद एफआईआर दर्ज किया। इसमें उपेंद्र कुशवाहा का भी नाम शामिल है।

अब हम twitter पर भी उपलब्ध हैं। ताजा एवं बेहतरीन खबरों के लिए Follow करें हमारा पेज :  https://twitter.com/dailynews360