उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) के निर्देश पर प्रदेश के सभी जिलों में अब रात का कर्फ्यू (night curfew in up) भी पूरी तरह से समाप्त कर दिया गया है। इस बारे में शनिवार को अपर मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी की ओर से आदेश जारी किए गए हैं। अभी तक रात के 11 बजे से सुबह छह बजे तक कर्फ्यू (night curfew in up) जारी था, जिससे दुकानें और रेस्टोरेंट 11 बजे तक बंद हो जाते थे। उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार कम होते जा रहे हैं जिसे देखते हुए प्रशासन ने निर्णय लिया है।

इससे पहले कोविड प्रोटोकाल (covid protocol) के अनुपालन की शर्त के अनुसार रात्रिकालीन कोरोना कर्फ्यू रात 11 बजे से सुबह 5 बजे तक लागू करने के आदेश थे। यूपी में नाइट कर्फ्यू खत्म करने के साथ ही सावधानी बरतने के भी आदेश जारी किए गए हैं। अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी द्वारा प्रदेश के सभी मण्डलायुक्त, एडीजी, आइजी, डीआइजी, पुलिस आयुक्त लखनऊ, गौतमबुद्धनगर, कानपुर और वाराणसी को रात्रिकालीन कोरोना कर्फ्यू समाप्त करने का आदेश जारी कर दिया गया है। प्रदेश में संक्रमण तेजी से कम हो रहा है। हालांकि, अभी पूरी तरह से समाप्त नहीं हुआ है। इसलिए सतर्कता एवं सावधानी बरतना बहुत जरूरी है। हालांकि, घर से बाहर निकलने पर मास्क की अनिवार्यता हो या फिर भीड़-भाड़ वाली जगहों से परहेज, लोगों को इन बातों का अभी ध्यान रखना होगा।

लखनऊ में रोजाना मिलने वाले नए संक्रमितों (Corona cases in UP) की संख्या 100 के करीब पहुंच गई है। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग ने रैपिड रिस्पांस टीम की संख्या में 50 प्रतिशत तक की कटौती का फैसला किया है। अफसरों का कहना है कोरोना के मरीज बढऩे पर स्वास्थ्य विभाग रोजाना 15 से 20 हजार से अधिक लोगों की रोजाना जांच कर रहा था। इसके लिए डीएम के निर्देश पर आरआरटी टीम की संख्या बढ़ाकर 206 कर दी थी। अब संक्रमण का ग्राफ कम होने पर टीमों में कटौती करने के लिए डीएम को पत्र भेजा गया है। वहां से मुहर लगने के बाद टीम की संख्या 100 से नीचे कर दी जाएगी।