देश में एक तरफ जहां लोगों को घंटों लाइन में लगने के बाद ऑक्सीजन सिलेंडर नसीब नहीं हो पा रहा है, तो वहीं सत्ता में बैठे लोग अपनी रुतबे का इस्तेमाल कर गाड़ियों में भर-भरकर सिलेंडर ले जा रहे हैं। ऐसा ही मामला उत्तर प्रदेश के बाराबंकी से आया, जहां रामनगर से बीजेपी विधायक शरद अवस्थी अपनी गाड़ी में ऑक्सीजन सिलेंडर भरकर ले जाते दिखे। जबकि, सीएम योगी आदित्यनाथ के आदेश हैं कि ऑक्सीजन सिलेंडर सिर्फ कोविड अस्पतालों को दिया जाएगा। लेकिन बीजेपी विधायक खुलेआम मुख्यमंत्री के आदेश की धज्जियां उड़ा रहे हैं।

दरअसल, यूपी के बाराबंकी के नगर कोतवाली क्षेत्र के सफेदाबाद में सारंग ऑक्सीजन प्लांट है। यहां लोग ऑक्सीजन सिलेंडर लेने या रिफिल करवाने के लिए लाइन में लगे थे। लेकिन तभी बीजेपी विधायक शरद अवस्थी की गाड़ी खुलेआम प्लांट के अंदर बिना रोक टोक के जाती है और सिलेंडर लोड करके वापस आ जाती है।

जिस प्लांट के बाहर घंटों लाइन में लगने के बाद लोगों को ऑक्सीजन नहीं मिल पाई, उसी प्लांट में बीजेपी विधायक ने बेधड़क घुसकर गाड़ी में ऑक्सीजन सिलेंडर रखवा लिए। जबकि, सीएम योगी का आदेश है कि ऑक्सीजन सिलेंडर सिर्फ कोविड अस्पतालों को दिए जाएंगे। यही आदेश जिले के डीएम आदर्श सिंह का भी है। लेकिन बीजेपी विधायक इन आदेशों की खुलेआम धज्जियां उड़ा रहे हैं।

बीजेपी विधायक शरद अवस्थी की सफारी गाड़ी, जिसका नंबर UP 41 AE 0111 है, वो धड़ल्ले से प्लांट में घुसती है। आरटीओ में ये गाड़ी शरद अवस्थी के नाम से ही रजिस्टर्ड है। शरद अवस्थी रामनगर विधानसभा से विधायक हैं। और हमेशा अपनी करतूतों से पार्टी की फजीहत करवाते रहते हैं। बीजेपी विधायक की गाड़ी प्लांट के अंदर से भरे ऑक्सीजन के सिलेंडर गाड़ी में लादकर वापस जाती है। विधायक की गाड़ी को न तो कोई रोकने वाला है और न ही कोई पूछने वाला कि उनका मरीज कहां एडमिट है या वो किसकी परमिशन से ऑक्सीजन सिलेंडर लेकर जा रहे हैं? लेकिन आम आदमी के लिए नियम है कि उसे ऑक्सीजन सिलेंडर लेने या रिफिल कराने के लिए डाक्टर के पर्चे के साथ डीएम का परमीशन लेटर भी लाना होगा। विधायक की गाड़ी जब प्लांट से बाहर आ रही थी, तो पत्रकारों ने कैमरा चलाया। इससे विधायक के ड्राइवर भड़क गए और धमकी देने लगे।