मिर्जापुर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने उत्तर प्रदेश में मुख्य विपक्षी दल समाजवादी पार्टी (SP) की नेतृत्व एवं शासन क्षमताओं पर प्रश्नचिन्ह लगाते हुए कहा है कि देश और उत्तर प्रदेश को ऐसा नेतृत्व चाहिए जो राष्ट्रभक्ति के भाव से भरा हो, जो ईमानदार हो और दिन रात मेहनत करनना जानता हो। मोदी ने शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के उम्मीदवारों की एक जनसभा को संबोधित करते हुए विपक्षी दलों खासकर सपा पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा, 'इन परिवारवादियों की 'डिक्शनरी' में 'मेहनत' शब्द तो है ही नहीं। गरीब के लिए मदद पहुंचाना और गरीब की ङ्क्षचता करने के लिए इनको फुर्सत ही नहीं है। ये लोग यूपी और देश को ताकतवर नहीं बना सकते।'

यह भी पढ़ें- रूस यूक्रेन युद्ध के बीच पुतिन की बेटी के पीछे पड़ी दुनिया, खू​बसूरती देख दीवाने हुए लोग

मोदी ने कहा, 'उत्तर प्रदेश को लगातार ऐसा नेतृत्व चाहिए, जो राष्ट्रभक्ति की भावना से हमेशा भरा हुआ हो। उत्तर प्रदेश को लगातार ऐसा नेतृत्व चाहिए, जो ईमानदार हो। उत्तर प्रदेश को लगातार ऐसा नेतृत्व चाहिए, जो विकास के लिए दिन-रात मेहनत करना जानता हो।' इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी ने कोरोना और रूस यूक्रेन युद्ध जैसी वैश्विक चुनौतियों का जिक्र करते हुए इनसे भारतीय नागरिकों को सुरक्षित बचाने के लिये भारत के प्रयासों का भी जिक्र किया। मोदी ने कहा कि इस समय पूरा विश्व इस शताब्दी के बहुत नाजुक दौर में हैं। महामारी, अशांति, अनिश्चितता इससे आज दुनिया के अनेक देश प्रभावित हो रहे हैं। संकट चाहे जितना भी गहरा हो, भारत के प्रयास उससे भी ज्यादा बड़े रहे हैं, उससे भी ज्यादा दृढ़ रहे हैं उन्होंने कहा, 'कोरोना में हमारे लाखों भारतीय पूरी दुनिया में फंसे हुए थे। भारत ने 'ऑपरेशन वंदे भारत' चलाकर अपने एक-एक नागरिक को वापस आने में मदद की। 

यह भी पढ़ें- ये हैं रूस के चार जिगरी दोस्त देश, हर समय कुछ भी करने को रहते हैं तैयार

अफगानिस्तान में हजारों भारतीय संकट में फंसे तो हमने 'ऑपरेशन देवी शक्ति' चलाकर अनेकों भारतीयों को वहां से सुरक्षित बाहर निकाला।' मोदी ने यूक्रेन संकट का उल्लेख करते हुए कहा कि अभी यूक्रेन की स्थिति सारी दुनिया देख रही है। उन्होंने कहा, 'युद्ध में फंसे अपने एक एक नागरिक को, हमारे विद्यार्थियों को वापस लाने के लिए भारत दिन रात जुटा हुआ है। 'ऑपरेशन गंगा' चलाकर हम हजारों बच्चों को यूक्रेन से सुरक्षित ला चुके हैं। जो अभी भी वहां हैं उन्हें लाने के लिए लगातार भारत के हवाई जहाज वहां से लगातार उड़ान भर रहे हैं। जिस अभियान के साथ मां गंगा का नाम जुड़ा है, मुझे विश्वास है कि वो अभियान सफल होकर ही रहेगा।'